जेयू-स्थाई समिति व विद्या संबंधी योजना तथा मूल्यांकन बोर्ड के कार्य विवरणों का हुआ अनुमोदन

ग्वालियर. जीवाजी विश्वविद्यालय के कार्य परिषद की बैठक शनिवार को हुई। कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग के जरिए हुई। कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला की अध्यक्षता में हुई बैठक में स्थाई समिति की विशेष बैठक व विद्या संबंधी योजना तथा मूल्यांकन बोर्ड की विशेष बैठक के कार्य विवरणों का अनुमोदन किया गया। साथ ही निर्णय लिया गया कि ऐसे महाविद्यालय जिनकी एनसीटीई ने मान्यता वापस ले ली थी, उन्हें लॉकडाउन के बाद 30 दिन के अंदर एनसीटीई की एनओसी लेकर जमा कराना होगा। इसके अलाव अन्य निर्णय भी हुए। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. आनंद मिश्रा सहित कार्यपरिषद सदस्य डॉ. अविनाश तिवारी, प्रो. एके हलवे, प्रो. नीरज जैन, वीरेंद्र गुर्जर, डॉ. मनेंद्र सोलंकी, अनूप अग्रवाल और उच्चशिक्षा विभाग के अतिरिक्त संचालक डॉ. एमआर कौशल मौजूद रहे।
यह हुए निर्णय
शर्मा सर्विस सिक्योरिटी एजेंसी और लक्ष्य सिक्योरिटी एंड फेसिलिटी सर्विस के कार्यों को विभाजित करते हुए शर्मा सिक्योरिटी को मैन पॉवर व सिक्योरिटी, जबकि लक्ष्य सिक्योरिटी को सफाई कार्य की अनुशंसाओं को मान्य किया गया।
मैसर्स माइक्रो प्रो सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड नागपुर को भुगतान किए जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *