कोरोना वायरस के चलते मोदी सरकार ने लाखों कर्मचारियों की 15 दिनों की छुट्टी स्वीकृत की

नई दिल्ली. कोरोना के कहर के बीच देश के लाखों कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर। मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 50 वर्ष से अधिक उम्र के कर्मचारियों को क्वारंटाइन में जाने के लिए अनुमति दे दी है इसके लिए बकायदा 15 दिनों की छुट्टी स्वीकृत की गई है। यानी यह व्यवस्था 4 अप्रैल 2020 तक के लिए लागू रहेगी। खास बात यह है कि इस अवकाश के लिए उन्हें किसी भी प्रकार का मेडिकल सर्टिफिकेट भी प्रस्तुत नहीं करना होगा। यह आदेश समस्त केंद्रीय कार्यालयों, मंत्रालयों, विभागों के लिए लागू होगा।
50 साल से अधिक आयु के कर्मचारियों को छुट्टी मिलेगी
कोरोना वायरस का देश में खतरा बढ़ चुका है इसके चलते केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के हित में अहम निर्णय लिया है उनके लिए 15 दिनों का अवकाश स्वीकृत किया गया है। इस अवकाश की पात्रता 50 साल से अधिक आयु के उन सभी कर्मचारियों को छुट्टी मिलेगी जो कि पहले से ही शुगर, सांस की किसी बीमारी या अन्य गंभीर बीमारियों से पीडि़त रहे है। कार्मिक व प्रशिक्षण विभाग की ओर से यह आदेश कर्मचारियों के स्वास्थ्य को द्रष्टिगत रखते हुए जारी किया गया है।
मोदी सरकार ने अपने कर्मचारियों को बड़ी राहत देने के लिए केंद्रीय नागरिक सेवाएं (छुट्टी) नियम, 1972 में आखिर ढील दी है इसके साथ ही सरकार ने इस दायरे में आने वाले कर्मचारियों को अवकाश पर जाने की सलाह भी दी है। यह भी कहा कि इस प्रकार के अवकाश पर जाने से आपकी सेहत तो सुरखित रहेगी साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं पर भी किसी प्रकार का अतिरिक्त बोझ नहीं आएगा।
रोस्टर से मुक्त रहेंगे ये कर्मचारी
सरकार का यह आदेश आगामी 4 अप्रैल 2020 तक के लिए लागू रहेगा। वे तमाम कर्मचारी जो कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी रेस्क्यू या सेवा कार्य में रत है वे इस रोस्टर प्रणाली से मुक्त रहेंगे। वे अपना कार्य पहले की तरह जारी रख सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *