ग्वालियर-चंबल में सीमेंट भी नकली, मिट्‌टी-रेत से बनाते थे सीमेंट

ग्वालियर. ग्वालियर के जहांगीरपुरी में पुलिस ने नकली सीमेंट की एक फैक्ट्री पकड़ी है। फैक्ट्री में मिट्‌टी, रेत व राख पाउडर को मिलाकर नकली सीमेंट बनाई जा रही थी। इस नकली सीमेंट को अल्ट्राटेक के बैग में रखकर उसी ब्रांड के नाम से मार्केट में सप्लाई किया जा रहा था। अल्ट्राटेक का एक बैग बाजार में 370 रुपए का आता है। यह 350 रुपए में एक सीमेंट का बैग दे रहे थे। इसी कारण इनका माल तेजी से बाजार में बिक रहा था। यहीं से पुलिस को सूचना मिली। यह फैक्ट्री मुरार-महाराजपुरा थाने के बॉर्डर पर जहांगीरपुरी में चल रही थी। पुलिस ने फैक्ट्री से 200 बैग नकली सीमेंट, रॉ मटेरियल व पैकेजिंग मशीन जब्त की है। इसके पास ही एक अन्य गोदाम से 100 बैग सीमेंट और मिली है। मैनेजर सहित पुलिस ने दो को हिरासत में लिया है। फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है।

एएसपी क्राइम राजेश डंडोतिया ने बताया कि सूचना मिली थी कि उपनगर मुरार के जहांगीरपुरी में नकली सीमेंट फैक्ट्री चल रही है। सूचना मिलते ही टीआई क्राइम ब्रांच दामोदर गुप्ता और मुरार थाना प्रभारी शैलेन्द्र भार्गव को सूचना की तस्दीक कर कार्रवाई के लिए निर्देशित किया, जिस पर क्राइम ब्रांच व मुरार थाने की दो टीमें बनाकर कार्रवाई के लिए भेजी गईं। क्राइम ब्रांच व मुरार थाना पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई की है। जिस समय पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम नकली सीमेंट बनाने की फैक्ट्री पर पहुंची तो यहां सिर्फ फैक्ट्री का मैनेजर ही था, पुलिस व क्राइम ब्रांच को देखते ही मैनेजर ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पहले से ही अलर्ट पुलिस टीम ने मैनेजर को पकड़ लिया। पकड़े गए फैक्ट्री मैनेजर की पहचान अंकित पाराशर के रूप में हुई है। इसके पास ही एक अन्य गोदाम से 100 बोरी अल्ट्राटेक सीमेंट मिली है। वहां से भी एक आरोपी पकड़ा गया है।

पुलिस का कहना
मुरार थाना प्रभारी शैलेन्द्र भार्गव ने बताया कि नकली सीमेंट की फैक्ट्री पकड़ी गई है। 2 आरोपी भी फैक्ट्री से पकड़े गए है, जिनमें एक खुद को मैनेजर बता रहा है। वहां से 300 बैग सीमेंट अल्ट्राटेक के मिले हैं। फैक्ट्री से इसी ब्रांड के नाम पर नकली सीमेंट बेची जा रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.