आंगनबाडी में सोलर लाईट सिस्टम की व्यवस्था सुनिश्चित करें . कमिश्नर श्री ओझा

ग्वालियर चंबल . ग्वालियर संभाग के कमिश्नर एमबी ओझा ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा कुपोषण निदान की दिशा में निरंतर प्रयास किये जा रहे है। जिसमें आगनबाडी केन्द्रो में आने वाले बच्चो को भरपेट खाने की सुविधा दी जा रही है। आगनबाडियो को और सशक्त बनाने की दिशा में सोलर लाईट सिस्टम की व्यवस्था सुनिश्चि करे। जिससे हर आगनबाडी में एक पंखा और एक ट्यूब लाईट के माध्यम से बच्चो का आगनबाडी केन्द्रो में नियमित आने का रूझान बढेगा। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में विभिन्न विभागो के कार्यो की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।
बैठक में चंबलरेज के एडीजीपी डीपी गुप्ता, कलेक्टर श्योपुर राकेश कुमार श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक सम्पत उपाध्याय, सीईओ जिला पंचायत हर्ष सिहं, डीएफओ सामान्य वन मंडल सुंधाशु यादव, सहायक कलेक्टर पवार नवजीवन विजय सहित विभिन्न विभागो के कार्यालय प्रमुख ध् जिला अधिकारी उपस्थित थे।
आगनबांडियो में सहजने का पेड़ अवश्य लगाएं . एडीजीपी श्री गुप्ता
चंबल रेज के एडीजीपी डीपी गुप्ता ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि श्योपुर जिले की सभी आगनबाडी केन्द्रो में सहजना का पेड आवश्य लगाया जावे। यह पेड फली देकर कुपोषण निदान में सहायक बनेगा। साथ ही पोष्टिक आहार के रूप में सहजना की फली को उपयोग में लाया जा सकता है। उन्होने कहा कि ऊचीखोरी कराहल के आगनबाडी केन्द्र को गोद लिया गया था। इस केन्द्र का संचालन व्यवस्थित तरीके से होने से केन्द्र पर आने वाले बच्चो को कुपोषण से मुक्ति मिली है। उन्होने कहा कि नोबल कोरोना वायरस कोविड.19 संक्रमण के दौरान पुलिस प्रशासन द्वारा परिस्थितियों को लॉकडाउन में व्यवस्थित तरीके से हैण्डल किया गया। जिससे श्योपुर जिला ने संक्रमण से निजात पाने में सफलता प्राप्त की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *