खिलौनों और फर्नीचर को लेकर चीन पर निर्भरता होगी खत्म, मध्य प्रदेश बनेगा विकल्प

भोपाल.  मध्य प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में जुटी शिवराज सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना पर तेजी से काम चल रहा है। बता दें कि राज्य में टॉय और फर्नीचर क्लस्टर बनाया जा रहा है अगले डेढ़ से दो साल में ये क्लस्टर बनकर तैयार हो जाएंगे।

चीन पर निर्भरता होगी खत्म
प्रदेश सरकार में एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने कहा है कि अभी देश के खिलौना और फर्नीचर बाजार में चीन में बने उत्पादों का दबदबा है हालांकि राज्य में बन रहे टॉय और फर्नीचर क्लस्टर के शुरू होने के बाद चीन का यह दबदबा पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने कहा कि लोग अब चीन के बने सामान से परहेज कर रहे हैं इसलिए मध्य प्रदेश में सरकार टॉय और फर्नीचर क्लस्टर बनाने का काम तेजी से कर रही है। उन्होंने कहा कि चीन के स्तर का सामान अब प्रदेश में ही बनेगा साथ ही क्लस्टर चालू होने से प्रदेश में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

बता दें कि एमपी में राज्य सरकार द्वारा इंदौर जिले के बेटमा में करीब 180 एकड़ क्षेत्र में फर्नीचर क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। पहले चरण में फर्नीचर निर्माताओं को 100 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई गई है इसके अलावा राऊ और रंगवासा इलाके में करीब 20 एकड़ क्षेत्र में टॉय क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। फर्नीचर क्लस्टर के विकास के लिए एसपीवी की गठन किया गया है, जो क्लस्टर की डीपीआर बनाएगी और विकास के बाद यहां का रखरखाव भी एसपीवी द्वारा की किया जाएगा।

इंदौर में बन रहे इस फर्नीचर क्लस्टर में अभी 171 निवेशक अपने यूनिट लगाएंगे। फर्नीचर क्लस्टर से 5 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा वहीं टॉय क्लस्टर में 70 करोड़ की लागत से 20 यूनिट स्थापित होंगी, जिसमें करीब 4000 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। उम्मीद की जा रही है कि इन क्लस्टर के काम शुरू करने के बाद पहले साल में करीब 250 करोड़ रुपए का कारोबार हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.