खून की कमी मातृ मृत्यू के लिये आज भी जिम्मेदार-डॉ अचलासहाय शर्मा

ग्वालियर. गत दिवस फोग्सी मेडिकल डिस्ऑर्डर इन प्रैग्नैन्सी कमेटी ने एनीमिया मुक्त प्रग्नैन्सी अभियान वर्ष 2020 में प्रांरभ किया। इसी तारतम्य में ग्वालियर में ऑब्सटिक एवं गायनिकलॉजिकल सोसायटी और सिम्स मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पीटल, ग्वालियर के संयुक्त तत्वावधान में आशा कार्यकर्ताओं का शैक्षाणिक एंव जागरूकता के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ गोग्स की प्रसीडेन्ट डॉ वीरा लोहिया, कनविनर एवं वाईस प्रसीडेन्ट गोग्ज डॉ अचलासहाय शर्मा, व सीएमओ ऑफिस, ग्वालियर से आये एपीएम विनय पाण्डे के द्वारा मॉ सरस्वती जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर किया गया। शुभारंभ के पश्चात सिम्स हास्पीटल के सभागार में स्लाइट प्रोजेक्टर के माध्यम से डॉ अचलासहाय शर्मा द्वारा गर्भवती महिलाओं में खून की कमी के कारण, लक्षण, रोकथाम, इलाज एवं गंभीर परिणामों के बारे में प्रशिक्षण दिया गया।
डॉ अचलासहाय शर्मा ने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं को क्षेत्र में कार्य के दौरान गर्भवती महिलाओं में खून की कमी की पहचान कर उन्हे इसकी रोकथाम एवं इलाज के लिये जागरूक व सर्तक करने के विभिन्न तरीकों के बारे में बताया। उन्होने इस बात पर जोर दिया कि हमारे समाज में बढते हुए फूड एवं मैदा के उपयोग को रोककर भारतीय पोष्टिक खान पान को पुनः स्थापित करने की बहुत आवश्यकता है और साथ ही उन्होने कहा कि आशा कार्यकर्ता की इसमें मुख्य भूमिका अदा कर सकतीं है खून की कमी से होने वाले खतरों जैसे हृदयघात, फेफडों में पानी भरना, ब्लडप्रेशर न मिल पाना, प्री एकलेंपशिया, समय से पहले प्रसव होना, कम बजन का बच्चा होना, बच्चे की ग्रोथ कम होना, पेट में ही बच्चे की मृत्यू हो जाना इत्यादी के बारे में भी उन्हे अवगत कराया गया।
इस अवसर प्रसीडेन्ट गोग्स वीरा लाहिया ने कहा कि आई हुई सभी आशा कार्यकर्ताओं को जागरूकता प्रशिक्षण के बारे में जानकारी दी। सीएमओ ऑफिस के प्रतिनिधि एपीएम विनय पाण्डे ने बताया कि इस तरह के जागरूकता प्रोग्राम आयोजित करने से आशा कार्यकर्ताओं की प्रतिभा में निखार आयेगा। और उन्होने कहा कि सिम्स हॉस्पीटल में इस तरह के विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम भविष्य में भी आयोजित किये जाते रहेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.