CHMO रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार

खंडवा. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डीएस चौहान को लोकायुक्त पुलिस ने 10 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। एक स्टाफ नर्स से उसका ट्रांसफर करवाने के बदले में 40 हजार रूपये की रिश्वत मांगी थी। इन्दौर से आयी लोकायुक्त पुलिस की टीम ने आज उन्हीं के बंगले के पास रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है।
दरअसल खंडवा जिले के छै गांव माखन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ एक नर्स सविता झरवडे ने पिछले दिनों लोकायुक्त पुलिस को शिकायत की थी। इस नर्स ने अपना ट्रांसफर छैगांव माखन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से खंडवा करवाने के लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से निवेदन किया था। बदले में अधिकारी ने उससे 40 रूपये हजार की मांग की थी। नर्स ने पहले 5 हजार रूपये दे दिये थे बाकी पैसे बाद में देना थे।
रंगे हाथों पुलिस ने दबोचा
लोकायुक्त इंस्पेक्टर प्रवीण बघेल के अनुसार स्टाफ नर्स वेदिका सविता झरबड़े शेगांव माखन में स्टाफ नर्स के पद पर पदस्थ है। वह पारिवारिक कारणों से अपना स्थानानांतरण जिला अस्पताल खंडवा चाहती थी। जिसके लिये वह सीएचएमओ से मिली तो सीएचएमओ डीएस चौहान ने उनसे 35 हजार रूपये के रिश्वत की मांग की थी।
शिकायत नर्स ने की थी
सीएमएचओ की मांग के बाद नर्स सविता झरबड़े ने एसपी लोकायुक्त कार्यालय इन्दौर में जाकर घूसखोर सीएचएमओ की शिकायत की और इसके बाद लोकायुक्त टीम ने प्लानिंग के साथ सीएमएचओ डीएस चौहान को 10 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.