मंत्री ओपीएस भदौरिया ने प्रशासन को गलत ठहराया, माफियाओं के इशारे पर कार्यवाही कर रहा प्रशासन

भिण्ड़. रेत का अवैध उत्खनन जोरों पर चल रहा है। जिले के प्रभारी मंत्री गोविंदसिंह राजपूत ने प्रवास के दौरान अधिकारियों को रेत के अवैध उत्खनन रोकने के निर्देश दिये हैं। मेहगांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने प्रशासन की कार्यवाही पर प्रश्न खड़े करते हुए द्वेषपूर्ण बताया है। पूरे जिले में रेत का व्यापार चल रहा है। मेरे जिले में कोई अवैघ कार्य नहीं हो रहा है। मेरे जिले को टारगेट करके प्रशासन माफियाओं के इशारे पर बदनाम कर रहा है जोकि ठीक नहीं है।
उन्होंने कहा कि मेरे क्षेत्र में अभी तक अवैध रेत उत्खनन का एक भी मामला सामने नहीं आया। महाशिवरात्रि पर धारा 144 लगी थी। जिले भर में वाहनों की आवाजाही पर रोक थी। इस समय जिला प्रशासन ने जो वाहनों पर कार्यवाही की है। वह वाहन सड़क पर खड़े थे या फिर वाहन मालिकों के निवास पर खड़े थे। ऐसे वाहनों पर रेत चोरी की कार्यवाही करना। उद्देश्य पूर्ण तरीके कार्यवाही मैं अनुचित समझता हूं। यह कार्यवाही माफियाओं के इशारे पर प्रशासन कर रहा है। माफिया प्रशासन को गुमराह कर रहा है जिसे मैंने अपने क्षेत्र में अवैध उत्खनन नहीं करने दिया।

8 महीने में  प्रशासन ने रॉयल्टी जारी क्यों नहीं की ?

मेरे क्षेत्र में 5 हजार ऐसे है जिनकी रोजीरोटी रेत के कारोबार से चलती है। इसी समय बड़ा सवाल खड़ा करते हुए मंत्री भदौरिया ने कहा कि 8 महीने पहले पावर मेककंपनी चली गई तो जिला प्रशासन ने रॉयल्टी जारी क्यों नहीं की। मैं यहां तक न प्रशासन की मदद से पहुंचा ना सहयोग से। मेरी जनता अच्छे से जानती है। परंतु उ्द्देश्य पूर्ण तरीके से एक क्षेत्र में कार्रवाई करना उचित नहीं है। ऐसी कार्रवाई संकोच व शंकाओं को जन्म देती है। उददेश्य पूर्ण तरीके से कार्रवाई की जाए वो निश्चित उचित नहीं होती है। मैंने स्पष्ट तौर पर कहा कि कार्रवाई पूरे जिले में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दूरी विधानसभाओं रेत की खदानें है। गिट‌टी के क्रेशर है। ऐसे क्षेत्र से निकलने वाले वाहनों की रॉयल्टी चैक नहीं होती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.