ग्वालियर के 35 मेडीकल स्टोर्स पर खपाई फैवीमैक्स-400, न्यू आशी फार्मा सील

ग्वालियर कोरोना काल में भी मिलावटखोरबाज नहीं आए । कोरोना को हराने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाइयों तक को मिलावट ड्रग कंट्रोलर की टीम इस पूरे मामले पर खोरमाफिया बारीकी से कर रही ने नहीं छोड़ा । खबर है कि फैवीमैक्स .400 नाम से कोरोना की इस नकली दवा को ग्वालियर में करीब 35 मेडिकल स्टोर्स पर खपाई गई और इन्हें बेचकर बड़ा मुनाफा कमाया गया है । पड़ताल दवा के नाम पर धोखा देकर इंसानी जान से खिलवाड़ करने वाले इन नकली दवा माफिया की करतूत सामने आने के बाद अब जिला प्रशासन जांच में जुट गया है । पड़ताल की जा रही है उन सभी मेडिकल स्टोर्स की जहां बिना बिलों के सप्लाई कर इस नकली दवा को खपाया गया ।
ड्रग कंट्रोलर टीम की छापामारी
इस पूरे मामले को लेकर ग्वालियर के ड्रग कंट्रोलर दिलीप अग्रवाल सहित आसपास के जिलों के ड्रग कंट्रोलर्स की एक टीम गठित की गई है । गठित टीम लगातार नकली फैवीमैक्स .400 दवा को लेकर छापामार कार्रवाई कर रही है । इसी दरम्यान टीम को अपनी पड़ताल में पता चला है कि यह दवा करीब 3 दर्जन मेडिकल स्टोर्स पर खपाई जा चुकी है। कार्रवाई के बीच ड्रग कंट्रोलर की टीम ने ग्वालियर में थोक दवाईयों के सबसे बड़े बाजार हुजरात पुल पर स्थित न्यू आशी फार्मा को सील कर दिया है । यहां टीम को कई ऐसी गंभीर रोगों की दवाइयां मिलीं जिन्हें तय मानक के अनुसार निर्धारित तापमान में नहीं रखा गया था ।
क्या है पूरा मामला
महाराष्ट्र और उड़ीसा के कटक जिले में एक सप्ताह पहले फैवीमैक्स .400 की नकली दवा का खुलासा हुआ । यहां यह भी पता चला कियह नकली दवाई ग्वालियर में भी सप्लाई हुई है । इस सूचना के मिलने के बाद माधव डिस्पेंसरी के सामने स्थित एमके प्लाजा में संचालित होने वाले श्रीमहादेव मेडिकल एंड सर्जिकल पर फेविपेराविर 400 की 570 टेबलेट जब्त की गई।
जब्ती से पहले दवाइयों के सैंपल जांच के लिए भोपाल भी भेजे गए । वहीं इस मामले में जब जांच आगे बढ़ी तो अब पता चला है कि कोरोना मरीजों को दी जाने वाली यह नकली दवा करीब 35 मेडिकल स्टोर्स के जरिए खपाई गई है । अब इसी की पड़ताल की जा रही है ।
इनका कहना है
फैवीमैक्स .400 की दवा की सप्लाई करीब 35 मेडिकल स्टोर्स के जरिए किए जाने का संदेह है । इसकी पड़ताल के लिए हमारी टीम जांच कर रही है ।

दिलीप अग्रवाल ए ड्रग इंस्पेक्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *