पुलिस लाईन में आयोजित की गई चित्रकला व स्लोगन प्रतियोगिता

ग्वालियर। पुलिस अधीक्षक ने सम्मेलन के दौरान उपस्थित प्रतिभागियों व महिला पुलिस कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘‘मध्यप्रदेश शासन द्वारा चलाये जा रहे महिला जागरूकता अभियान ‘‘सम्मान’’ का मुख्य उद्देश्य महिला अपराध के उन्मूलन में समाज की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना तथा महिलाओं एवं बालिकाओं के लिये समाज में सम्मानजनक एवं अनुकूल वातावरण तैयार करना है साथ ही जनमानस को जागरूक कर सशक्त बनाना है, ताकि स्वंय महिलाएं ही नहीं बल्कि हम सब महिला सुरक्षा के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर सकें’’। उन्होने यह भी कहा कि वर्तमान समय में इंटरनेट के बढ़ते उपयोग के कारण सायबर अपराधों में भी बृद्धि हुई है इस अभियान के दौरान हमको और आपको मिलकर जिले की महिलाओं और बालिकाओं को सायबर अपराध से सुरक्षा के लिये जागरूक करते हुए उनके कानूनी अधिकारों व जिला पुलिस द्वारा उनकी सुरक्षा व सहायता के लिये किये जारहे प्रयासों के बारे में विस्तार से अवगत कराना है।
पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने जिला बल में कार्यरत सभी महिला पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा किये जा रहे कार्यो की सराहना की और उन्हे इसी प्रकार उत्साह के साथ कार्य करने के लिये प्रेरित भी किया।पुलिस अधीक्षक ने प्रतियोगिता में आये एक दिव्यांगप्रतिभागी द्वारा अपने मुंह से बनाई गई पेंटिंग की सराहना की व गणतंत्र दिवस पर उसेपुरूस्कृत किये जाने के लिये कहा।
इस कार्यक्रम में एएसपी ग्रामीण जयराज कुबेर के साथ सीएसपी ग्वालियर नागेन्द्र सिंह सिकरवार, रक्षित निरीक्षक रणजीत सिंह, सूबेदार श्रीमती रूमा नाज व पुलिस लाइन ग्वालियर में पदस्थ महिला पुलिसकर्मी एवं उनके परिजन उपस्थित रहे। महिला सम्मेलन कार्यक्रम में उपस्थित वक्ताओं ने सभी प्रतिभागियों, पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को महिला जागरूकता अभियान के संबंध में जानकारी देते हुए महिलाओं को सशक्त बनाने, घरेलू हिंसा, महिला अपराध के प्रति जागरूक करते हुए अपराध सहन नहीं करने बल्कि मुकाबला करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *