ग्वालियर के धर्मेन्द्र गर्ग को नक्सलियों ने मारा, उपचार के दौरान हुई मौत

ग्वालियर. छत्तीसगढ़ के बीजापुरा में नक्सलियों ने सोमवार की दोपहर दिनदहाड़े एक ठेकेदार की हत्या कर दी। नक्सलियों ने कुल्हाड़ी से ठेकेदार पर इतने वार किये कि उसकी पेट की आंते तक बाहर आ गयी। वहां काम कर रहे मजदूर उन्हें लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे जहां पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। ठेकेदार पुलिया निर्माण के दौरान काम देखने के लिये गये थे। घटना सीआरपीएफ कैम्प से लगभग डेढ़ किमी दूर मंगालूर थाना क्षेत्र में हुई है।
क्या है पूरा मामला
ऐसा बताया गया है कि मप्र के ग्वालियर निवासी धर्मेन्द्र गर्ग यहां पुजारी पारा में रहते थे। लगभग 7 से 8 वर्ष पूर्व पुलिस की नौकरी छोड़कर उन्होंने ठेकेदारी करना शुरू किया था और पुलिस में रहते हुए वह बीजापुर में ही पदस्थ रहे थे। इन दिनों वह चेरेपाल-कोटेर के बीच पुलिया का निर्माण करा रहे थे। उसी का काम देखने के लिये सोमवार को वहां पहुंचे थे। ऐसा बताया जा रहा है कि दोपहर लगभग 2 बजे वह पेड़ के नीचे बैठे पुलिया निर्माण कार्य देख रहे थे। इसी बीच 10 से 12 नक्सली पहुंच गये और मारपीट शुरू कर दी।
धमेन्द्र के शव को ग्वालियर भेजा रहा है
इसके बाद नक्सलियों ने कुल्हाड़ी से हमला करना शुरू कर दिया। ऐसा बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने एक के बाद एक कई हमले किये और इसके बाद नक्सली वहां से भाग निकले। उनके जाने के बाद मजदूर धर्मेन्द्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर गये। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया और इसके बाद शाम को जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम केबाद शव को उनके घर ग्वालियर भेजा जा रहा है।
उपचार के बीच हुई मौत
बीजापुर जिला अस्पताल के सिविल सर्जन अभयप्रताप ने बताया कि ठेकेदार को जिला अस्पताल रेफर करने की तैयारी कर रहे थे लेकिन प्राथमिक उपचार के बीच उनकी मौत हो गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *