आयकर विभाग के छापों पर मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने अपना नाम आने पर कहा किसी ने कोई चंदा नहीं दिया, जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं

ग्वालियर. कमलनाथ सरकार के कार्यकाल के समय पड़े आयकर के छापों में मिले दस्तावेजों से लेन-देन का खुलासा हुआ है। इस रिपोर्ट में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का नाम भी है। ऊर्जा मंत्री ने रविवार की दोपहर चर्चा करते हुए सफाई देते हुए कहा कि वह किसी प्रकार की जांच का सामना करने के लिए तैयार है और उनका कहना है कि किसी ने कोई चंदा नहीं दिया है इसलिए अभी इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं उठता है लेकिन जांच एजेंसी को मेरे पद पर रहने से पड़ताल में कोई व्यवधान आता है तो मैं कुछ भी करने को तैयार हूं।
लेन-देन में मंत्री प्रद्युम्न के नाम का उल्लेख
चुनाव आयोग ने अप्रैल 2019 में पड़े आयकर विभाग के छापों पर कार्रवाई करने के लिए प्रदेश सरकार को पत्र लिखा है साथ ही एक रिपोर्ट भेजी, इस रिपोर्ट में लोकसभा चुनाव से पहले हुए लेन-देन का उल्लेख है। इस रिपोर्ट में 4 पुलिस अधिकारियों के साथ मंत्रियों व विधायकों के नाम भी है। इनमें से 10 मंत्री व विधायक कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आ गए है और कुछ भाजपा के साथ है। इन नामों में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का नाम शामिल है।
इस्तीफा देने से इंकार किया
मंत्री प्रद्युम्न का साफ कहना है कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। जांच में लेन-देन का सच सामने आना चाहिए। जांच में जो भी दोषी पाए जाए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने इस रिपोर्ट में नाम आने के बाद इस्तीफा देने की बात कहने से भी इंकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.