हड़ताल-2600 घरों की बिजली गुल, हड़ताल रहने तक बिजली नहीं ठीक होने की संभावना

ग्वालियर. बिजली कंपनी के संविदा एवं आउटसोर्स कर्मचारी बेमियादी हड़ताल पर जाने से शहर की बिजली व्यवस्था अस्तव्यस्त हो गयी है। बुधवार की सुबह हुई वर्षा के बाद बिजली गुल होने से 2600 घरों से शिकायतें आई है। लेकिन कर्मचारियों के हड़ताल पर होने से इन शिकायतों का कोई निराकरण नहीं हो सका है। वहां बिजली कंपनी अभी तक 125 कर्मचारियों की सेवायें समाप्त कर चुके हैं। अगर कर्मचारियों ने हड़ताल समाप्त नहीं की तो और कर्मचारियों पर गाज गिर सकती है। अपनी मांगें मनवाने के लिये हड़ताल कर रहे संविदा कर्मचारी और आउटसोर्स कर्मचारी अब आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं। कर्मचारियों का कहना है कि उनके द्वारा लगातार कंपनी को ज्ञापन सौंपे जा रहे है। लेकिन उनकी मांगको नहीं माना जा रहा है। इस वजह से उन्हें मजबूरन अनिश्चितकालीन हड़ताल करनी पड़ी है। बुधवार की सुबह हुई वर्षा के बाद से शहर में बिजली जाने की 2600 शिकायतें आयी है। लेकिन इन शिकायतों का कर्मचारियों के हड़ताल पर रहने से निराकरण नहीं होने से लोग परेशान है। सभी जोन एवं मेटेंनेस में पदस्थ कर्मचारी मंगलवार से हड़ताल पर है। मध्यप्रदेश संविदा एवं ठेका श्रमिक कर्मचारी संघ इंटक के आव्हान परद यह हड़ताल की जा रही हे। पहले दिन हड़ताल पर कम संख्या में कर्मचारी थे। लेकिन इनकी संख्या बढ़ती जा रही है। 500 कर्मचारी इस समय हड़ताल परद है। इस वजह बिजली विभाग की व्यवस्थायें भंग हो गयी है। बिजली विभाग जो कर्मचारी हड़ताल पर नहीं उनका सहयोग लेकर व्यवस्थायें सुधारने के प्रयास में लगी है। हड़ताल-2600 घरों की बिजली गुल, हड़ताल रहने तक बिजली नहीं ठीक होने की संभावना

Leave a Reply

Your email address will not be published.