मप्र में तबादलों की खींचतान मैदानी स्तर पर जारी

भोपाल. प्रदेश में कर्मचारियों के तबादलों को लेकर जिला स्तर पर करीब 25 दिन से जद्दोजहद चल रही है पर सूचियां नहीं निकल रहीं। प्रभारी मंत्रियों की नियुक्ति के 21 दिन बाद भी तबादला न होना कर्मचारियों के लिए परेशानी का कारण बना हुआ है क्योंकि सामान्य तबादलों पर रोक (31 जुलाई) लगने में सिर्फ 9 दिन शेष है और इस बार सीमित संख्या में तबादले होने है। ऐसे में कर्मचारियों की घबराहट बढ़ना लाजमी है और वे नेताओं, अधिकारियों के चक्कर लगा रहे है।
वहीं सांसद, विधायक, भाजपा के जिला अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष सहित अन्य भाजपा नेता कई स्तर पर अलग-अलग सूचियां तैयार कर रहे हैं। इन सूचियों में कर्मचारियों के नाम रिपीट (दोहराव) हो रहे है। जिन पर प्रभारी मंत्री को अंतिम निर्णय लेना है।
प्रभारी मंत्रियों ने अनुमोदन नहीं मिला
जानकारी के अनुसार जिलों में कर्मचारियों की तबादला सूची बन चुकी है पर प्रभारी मंत्री की मंजूरी बड़ी समस्या बनी हुई है। सरकार ने 30 जून को ही प्रभारी मंत्री नियुक्त किए है। वे जिलों का प्रभार संभाल चुके है पर तबादला सूची को लेकर काम की गति धीमी है जिससे सूची जल्द जारी नहीं हो पा रही है।
25 के बाद आएंगी सूचियां
जानकारी मिली है कि 25 जुलाई के बाद तबादला सूची निकलना शुरू होंगी। सरकार भले ही 31 जुलाई तक तबादले करने की बात करें पर सूचियां 10 अगस्त के बाद तक निकलेंगी, हालांकि सभी पुरानी तारीखों में जारी होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *