कोरोना-3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष आयु के लगेगी वैक्सीन, 10 जनवरी से बुजुर्गो को फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जायेगी बूस्टर डोज

नई दिल्ली. भारतवर्ष में 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष तक की आयु वाले लगभग 8 करोड़ बच्चों को कोरोना लगायी जायेगी। इसके अलावा 10 जनवरी से हेल्थ वर्कर्स सहित सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्री-कॉसन ‘Precaution Dose’ डोज दी जायेगी। पीएम नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को 13 मिनट 46 सेकेण्ड के संबोधन में इस बात का ऐलान किया।
पीएम ने कहा है कि 60 वर्ष से अधिक आयु वाले कॉ-मॉरबिडिटी (अति गंभीर से पीडि़त) वाले नागरिकों को भी उनके डॉक्टर की सलाह पर वैक्सीन की प्री-कॉसन ‘Precaution Dose’  डोज का विकल्प दिया जायेगा। इसकी भी शुरूआत 10 जनवरी से की जायेगी। पीएम ने देर शाम 9 बजकर 46 मिनट पर अपना संबोधन शुरू किया और लगभग 10 बजे खत्म किया और साथ ही पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि जल्द ही देश में नेजल वैक्सीन और दुनिया की पहली डीएनए वैक्सीन लगाना भी शुरू कर दिया जायेगा। हालांकि पीएम मोदी ने एक बार फिर देशवासियों से कोरोना महामारी से बचाव के सभी उपायों का पालन करने की भी अपील की। उन्होंने कहा है कि महामारी को हराने के लिये मास्क पहनने जैसे उपायों को अपनाये रखना जरूरी है।

आज दुनिया के कई देशों कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से संक्रमण बढ़ रहा है। भारत में भी कई लोग ओमिक्रॉन से संक्रमित हैं। अपील है कि पैनिक न करें, लेकिन सावधान रहें। मास्क का उपयोग करें और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर बाद धुलना हमें भूलना नहीं है।

वैक्सीनेशन है बचाव का बहुत बड़ा जरिया
उन्होंने कहा, कोरोना महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि वैक्सीनेशन से बचाव हो रहा है। हमारे यहां भी इसे लेकर व्यापक पैमाने पर काम करना शुरू कर दिया गया था। इन तैयारियों का ही नतीजा था कि हमने जल्द ही वैक्सीनेशन शुरू कर दिया था। अब तक 141 करोड़ वैक्सीन डोज के बेहद मुश्किल और अभूतपूर्व टारगेट को पूरा कर चुका है। 61% व्यस्क को दोनों डोज लग चुकी है। 90% व्यस्कों को पहली डोज लग चुकी है। हमने दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कैंपेन सफलता से चलाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.