टूरिज्म प्लान ऐसा हो जिससे देश-विदेश के पर्यटक आकर्षित हों – केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया

केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने देखा ग्वालियर टूरिज्म प्लान का प्रजेण्टेशन

ग्वालियर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर ग्वालियर के पर्यटन को उभारने के लिए टूरिज्म प्लान को इस प्रकार से अंतिम रूप दें, जिससे देश-विदेश के पर्यटक आकर्षित हों। इस आशय के निर्देश केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने संबंधित अधिकारियों को दिए। केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने ग्वालियर के टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिये तैयार किए गए टूरिज्म प्लान का गुरूवार को कलेक्ट्रेट के सभागार में प्रजेण्टेशन देखा और विस्तार से समीक्षा की।
केन्द्रीय मंत्री ने प्रजेण्टेशन देखने के बाद ग्वालियर के टूरिज्म प्लान को अंतिम रूप देने के लिये आठ बिंदु बताए हैं। इसके आधार पर अगले एक महीने के भीतर टूरिज्म प्लान को अंतिम रूप देने के निर्देश उन्होंने कलेक्टर, नगर निगम आयुक्त व स्मार्ट सिटी की सीईओ को दिए हैं।
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सांसद विवेक शेजवलकर, पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल व साडा के पूर्व अध्यक्ष राकेश जादौन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने ग्वालियर टूरिज्म को लेकर उपयोगी सुझाव दिए। इस दौरान संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल, स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह एवं अपर कलेक्टर इच्छित गढ़पाले सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।
सांसद विवेक शेजवलकर ने लोकल टूरिज्म को बढ़ावा देने का सुझाव दिया। जिस पर केन्द्रीय मंत्री ने भी सहमति जताई। उन्होंने कहा कि ग्वालियर क्षेत्र की समृद्ध पर्यटन विरासत के बारे में ग्वालियरवासियों को जागरूक करें, जिससे स्थानीय लोगों में पर्यटन के प्रति रूचि पैदा हो और वे जब बाहर जाएँ तब दूसरे क्षेत्र के लोगों को भी यहां के पर्यटन की खूबियां गिना सकें।
इन बिंदुओं के आधार पर दिया जाएगा टूरिज्म प्लान को अंतिम रूप
केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर के टूरिज्म प्लान को अंतिम रूप देने के लिये महत्वपूर्ण बिंदु बताए हैं। इनमें पर्यटकों की रूचि को ध्यान में रखकर सर्किट रूट का निर्धारण अर्थात हैरीटेज, संस्कृति, संगीत इत्यादि के आधार पर पर्यटन सर्किट का निर्धारण शामिल हैं। उन्होंने विशेषज्ञ टूरिज्म एडवाइजर नियुक्त करने, पर्यटकों की सुरक्षा व पर्यटन के लिहाज से विशेष यातायात वाहन, अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पर्यटन वेबसाइट, स्थानीय आर्ट एण्ड क्राफ्ट को बढ़ावा, एडवेंचर स्पोर्ट्स मसलन पैराग्लाइडिंग, चंबल राफ्टिंग, रॉक क्लाइम्बिंग, स्थानीय खूबियों को बताते हुए टूरिज्म की ब्राण्डिंग, ग्वालियर के उत्तरी दिशा में मुरैना व आगरा की ओर के पर्यटन स्थल को जोड़ते हुए टूरिस्ट सर्किट एवं दक्षिण दिशा में झांसी व चंदेरी इत्यादि को जोड़ते हुए टूरिस्ट सर्किट शामिल हैं। टूरिज्म को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मूर्तरूप दिए जाने वाले ऐसे कार्य जो बिना बड़े खर्च के तुरंत धरातल पर लाए जा सकते हैं और ऐसे कार्य जिनके लिये वित्त पोषण की जरूरत होगी, जिससे शासन स्तर और अन्य प्रयासों से धनराशि की व्यवस्था की जा सके। इसके अलावा विशेषज्ञ गाइड तैयार करने पर भी श्री सिंधिया ने विशेष जोर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *