मुरैना में वन विभाग की टीम पर हमला, रेत माफिया ने चारों तरफ से घेरा

मुरैना. रेत माफिया ने वन विभाग की टीम पर हमला बोल दिया। हमले का कारण टीम द्वारा जब्त किया गया वह लोडर था जिससे माफिया रेत भर रहे थे। माफिया के लगभग आधा सैकड़ा लोग जब लोडर नहीं छीन पाए तो उन्होंने टीम की तीन गाड़ियों के कांच तोड़ दिए तथा फायरिंग की वह पत्थर फैंके।

क्या है पूरा मामला
बता दें, कि मुरैना में रेत माफिया के हौंसले बुलंद हैं। यह माफिया चंबल के रेत का दिन-रात खनन कर रहे हैं। इसको रोकने के लिए वन विभाग के अधिकारियों व जिला प्रशासन ने कई बार कोशिश की लेकिन खास सफलता हाथ नहीं लगी। बीते दिन विभाग के अधिकारियों को खबर लगी कि चंबल के टेंटरा थानार्न्तगत बरेठा घाट पर लोडर से रेत का खनन किया जा रहा है। सूचना पाते ही तीन गाड़ियों में भरकर विभाग के अधिकारी व फोरेस्ट गार्ड मौके पर पहुंचे तथा उन्होंने रेत माफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए रेत भरने वाला लोडर जब्त कर लिया। लोडर जब्त करने पर माफिया के लोग एकत्रित हो गए और उन्होंने टीम के सदस्यों पर फायरिंग करना शुरु कर दिया। फायरिंग होते देख टीम के सदस्यों ने भी जवाबी फायरिंग की। जवाबी फायरिंग से माफिया के पैर उखड़ गए तथा उन्होंने पत्थर फैंकना शुरु कर दिया। पत्थर से कई वन रक्षकों के चोट आईं तथा टीम के साथ गई तीन गाड़ियों के कांच टूट गए। पथराव व फायरिंग से घबड़ाकर जब वन अमला वहां से भागने को हुआ तो माफिया को लोगों ने बैरियर लगाकर उनका रास्ता रोक लिया। रास्ता रोकने वालों में महिलाएं व बच्चे भी शामिल थे।

गांव वालों की मिलीभगत
पुलिस के मुताबिक इस हमले में स्थानीय गांव वालों की भी मिली भगत शामिल है। वह लोग इन लोगों से मिले रहते हैं। उनकी मिलीभगत से ही दिन रात अवैध रेत खनन किया जा रहा है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.