IND vs PAK Asia Cup-मिडिल ऑर्डर फेल, युजवेंद्र चहल का स्पेल, पाकिस्तान के खिलाफ इन वजहों से हारा भारत

सूर्या
दुबई. एशिया कप 2022 में भारतीय टीम को पहली हार का सामना करना पड़ा हे। रविवार 4 सितम्बर को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गये मुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 5 विकेट से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए टीम इंडिया ने विरोट कोहली के 60 रनों की मदद से 7 विकेट पर 181 रन बनाये थे। जवाब में पाकिस्तानी टीम ने अंतिम ओवर में टारगेट को हासिल कर लिया। टीम इंडिया अब अगले मुकाबले में मंगलवार को श्रीलंका का सामना करेगी।
इस धमाकेदार जीत के साथ ही पाकिस्तान ने ग्रुप -स्टेज में 5 विकेट से मिली हार का बदला भी लिया और देखा जाये तो पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में टीम इंडिया की दिल तोड़ने वाली हार के पीछे कई वजहें रही हैं। आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ वजहों के बारे में जिसके चलते पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया की लुटिया डूबी।
फीका रहा पंड्या-भुवी का प्रदर्शन
पाकिस्तान के खिलाफ पिछले मैच में जीत के हीरो भुवनेश्वर कुमार और हार्दिक पंड्या रहे थे। लेकिन यह मुकाबला दोनों के लिये काफी खराब साबित हुआ। हार्दिक पंड्या बैटिंग के साथ ही बॉलिंग में भी फ्लॉप रहे। हार्दिक ने 4 ओवर में 44 रन लुटा दिये और उन्हें एक विकेट मिला। भुवनेश्वर कुमार की बात की जाये तो उन्होंने 4 ओवर में 40 रन देकर एक खिलाड़ी का विकेट लिया। पारी का 19वां ओवर भुवनेश्वर कुमार ने ही फेंका था जिसमें कुल 19 रन आये थे।
मिडिल ऑर्डर का सरेंडर
जब रोहित शर्मा और केएल राहुल ने 5 ओवर में 54 रन जोड़ दिये थे तो ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम आज 200 रनों का स्कोर खड़ा करने जा रही है लेकिन यह संभव नहीं हो पाया। राहुल-रोहित के पवेलियन लौटने के बाद विराट कोअली तो अंतिम ओवर तक विकेट पर रहे लेकिन मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज उनको उतना सपोर्ट नहीं दे पाये। इस बीच सूर्यकुमार यादव 13, ऋषभ पंत 14, हार्दिक पंड्या 0, और दीपक हुड्डा 16, का बल्ला खामोश रहा। अगर भारतीय टीम 15-20 रन अधिक बनाई होती तो मैच का नतीजा कुछ अलग रहता ।

रोहित का टॉस हारना
दुबई के मैदान पर टॉस गंवाना भी भारत को भारी पड़ा। पाकिस्तान के खिलाफ ग्रुप-मैच में इसी मैदान पर भारत ने टॉस जीतने के साथ ही मैच जीतने में सफल रही थाी। अगर भारतीय टीम इस बार भी टॉस जीत जाती तो वह पहले बॉलिंग करती लेकिन किस्मत ने रोहित शर्मा का साथ नहीं दिया। बॉलिंग के दौरान थोड़ी बहुत ओस के कारण भी भारतीय गेंदबाज परेशानी में नजर आएं। इसका फायदा उठाते हुए रिजवान और नवाज ने जमकर रन बटोरे। यदि भारत टॉस जीत गया रहता तो नतीजा कुछ और हो सकता था।
चहल की महंगी बॉलिंग
लेग-स्पिनर युजवेंद्र चहल बल्लेबाजों को अपने स्पिन के जाल में फंसाने में माहिर समझे जाते हैं।  लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ इस मैच में वह आउट ऑफ फॉर्म दिखे।  पाकिस्तान की पारी के 15वें ओवर में जब भारत की ओर से युजवेंद्र चहल ने कुल 16 रन दिए, जिससे मोमेंटम विपक्षी टीम के पक्ष में चला गाया। चहल ने चार ओवर्स के स्पेल में 43 रन देकर एक विकेट हासिल किया।
अर्शदीप का कैच छोड़ना
खेल में कैच किसी से भी छूट सकता है. इसी कड़ी में अर्शदीप सिंह ने पारी के 18वें ओवर में एक कैच छोड़ा जो भारतीय टीम पर भारी पड़ गया।  रवि बिश्नोई के उस ओवर की तीसरी गेंद पर अर्शदीप सिंह ने आसिफ अली का एक आसान सा कैच टपका दिया। आसिफ ने उसके बाद भुवी के ओवर में एक छक्का और एक चौका लगाया जिससे गेम पूरी तरह पलट गया था। कुल मिलाकर भुवनेश्वर कुमार द्वारा फेंके गए 19वें ओवर में 19 रन आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.