यातायात के नियमों ।का उल्लघंन करने वालों पर आईटीएमएस की निगरानी, अभी तक 45008 वाहनों तोडे़ यातायात के नियम, ई-चालान भेजे जायेंगे

ग्वालियर. शहर की बिगड़ती यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिये स्मार्ट सिटी की ओर से इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) से ट्रैफिक के नियमों का उल्लघंन करने वाले चिन्हित किये जा रहे है। पिछले 13 माह में ऐसे 45008 वाहनचालकों ने नियमों का उल्लघंटन किया है। इनमें से रेडलाइट जम्प करना, हेलमेट न पहनना या फिर स्टॉपलाइन के आगे गाड़ी खड़ी करना आदि शामिल है। इनमें से 8,604 लोगों से 39 लाख 96 हजार रूपये जुर्माना वसूल किया गया है। लेकिन शेष लोगों ने जुर्माना जमा नहीं किया है अब उन पर कार्यवाही की जा रही है।
स्मार्टसिटी कॉर्पोरेशन के अधिकारियों के अनुसार जुर्माने के रूप में ट्रैफिक पुलिस को कुल 2 करोड़ 19 लाख 5 हजार 500 रूपये मिलना चाहिये लेकिन लोग जुर्माना जमा करने में कम रूचि ले रहे हैं इसलिये पैसा 20 प्रतिशत से भी कम मिला है। अब ट्रैफिक पुलिस ऐसे लोगों को नोटिस देने वाली है। जिन्होंने जुर्माने की राशि जमा नहीं की है। आईटीएमएस के माध्यम से दूसरे राज्यों के उन वाहनों के भी चालान किये जा रहे हैं जो ट्रैफिक नियम तोड़ते हैं। अभी तक ऐसे 25 वाहनों के चालान काटकर उनके घर के ठिकानों पर पहुंचाये है। इनमंें उत्तरप्रदेश और राजस्थान के वाहन अधिक है। क्योंकि मध्यप्रदेश में अक्सर यहां के वाहनों का आना-जाना लगा रहता है।
आईटीएमएस सिस्टम 12 सितम्बर 2020 से शुरू हुआ था
आपको बता दें कि आईटीएमएस सिस्टम 12 सितम्बर 2020 को शुरू किया गया था सिस्टम आईटीएमएस पिछले वर्ष 12 सितम्बर को 4 चौराहों पर शुरू किया था। इसके बाद ई-चालान की कार्यवाही शुरू की गयी थी। एक माह पहले तक दूसरे राज्यों के वाहनों का डेटा नहीं मिलने की वजह से सिर्फ मप्र के वाहनों के चालान बनाये जा रहे थे। पिछले माह केन्द्र सरकार के सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय ने दूसरे राज्यों का डाटा देने की स्वीकृति दे दी थी। इसके बािद ग्वालियर स्मार्ट सिटी कॉर्पोरेशन ने तकनीकी प्रक्रिया पूरी कर एनआईसी को दी। यह काम पूरा होते ही प्रत्येक वाहन का रिकॉर्ड आईटीएमएस को संचालित करने वाली कंपनी के पास आ गया।
पहले नोटिस कोरियर से भेजा
चालान काटने के बाद सबसे पहले वाहन मालिक के मोबाइल पर ट्रैफिक नियमों का उल्लघंटन करने पर चालान काटने की सूचना भेजी जाती है और इसके बाद दूसरे राज्य के जिस शहर का वाहन होता है। वहां पर कोरियर के जरिये से चालान पहुंचा दिया जाता है।
जिसने भी चालान का जुर्माना जाम नहीं किया उन्हें नोटिस भेजे जायेंगे
आईटीएमएस के माध्यम से जिन वाहनों मालिकों के चालान बनाये जाते हैं उन्हें फोन कर इसकी सूचना दी जाती है। कोरियर के माध्यम से भी चालान घर भेजे जाते हैं, जो लोग जुर्माने की राशि जमा नहीं कर रहे हैं उन्हें नोटिस दिये जायेंगे।
हितिका वॉसल, एएसपी, यातायात, ग्वालियर

Leave a Reply

Your email address will not be published.