भोपाल की टीचर डॉ. उषा खरे केबीसी 2020 अमिताभ बच्चन के साथ नजर आयेंगी

भोपाल. गवर्नमेंट स्कूल के बारे में सोचने पर अमूमन बेंरग क्लास रूम, बिना सुविधाओं के पाठ रटते बच्चें और नीरस माहौल की जहन में आता हैैं, लेकिन जहांगीराबाद का गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल इससे बिलकुल अलग हैं। स्कूल को 2014 में इंग्लिश मीडियम का दर्जा मिला है, स्मार्ट क्लास और टैबलेट्स से पढाई होती है।
इस स्कूल का नाम नवाचारों के लिए जाना जाता है। इसका श्रेय यहां की प्रिंसिपल डॉ. उषा खरे को है। शिक्षा में चलती अपने इस नवाचार के चलते डॉ. उषा खरे को दो बार राज्य स्तरीय शिक्षक पुरस्कार और 2017 में राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान से नवाजा गया। अब आज रात 9 बजे सोनी टीवी के शो (केबीसी) कौन बनेगा करोडपति के कर्मवीर स्पेशल एपिसोड में उनकी पूरी जर्नी को शेयर किया जाएगा। हॉटसीट पर बैठकर अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब देती नजर आएंगी। उनके साथ हॉटसीट पर ग्लोबल टीचर अवार्ड से सम्मानित महाराष्ट्र के सोलापुर जिला परिषद् के प्रायमरी शिक्षक रणजीत सिंह डिसले और फिल्म अभिनेता बोमन ईरानी भी होंगे। बालिका शिक्षा के लिये सत्त प्रयासरत उषा खरे ने मुम्बई से लौटकर अपने विचार सोशल मीडिया पर शेयर किये।

परिवार का मिला भरपूर सपोर्ट

मैं एक शिक्षक की बेटी हूं, मैंने अपने पिता को बहुत सम्मान पाते और बहुत संघर्ष करते देखा है। मैं अपना रोल मॉडल, पिताजी को मानती हूं। परिवार में मुझे पढ़ाई का माहौल मिला। लेकिन आसपास देखती थी कि शिक्षा बहुत बड़ी चुनौती थी। खासकर लड़कियों के लिए। उसी वक्त शिक्षक बनने का खयाल आ गया था। अड़चनें हर वक्त आई, लेकिन पहले मायके और बाद में ससुराल में पूरा सहयोग मिला। मेरे पति सुधीर खरे भोपाल दुग्ध संघ में मैनेजर हैं। मेरी तीन बेटियां सोनल, सौम्या और सुरभि की शादी हो चुकी है। मेरा बेटा अक्षय काउंसिल कॉटेज (counsels’ cottage) का फांउडर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *