ग्‍वालियर में पार्षद की पीट पीटकर हत्या

ग्वालियर. वार्ड नंबर 3 के पार्षद काे उसके ही दोस्त ने पीट पीट कर मारा डाला। पार्षद एनिवर्सिरी केक खरीदने बाजार गया था। जहां से दोस्त ने पार्षद को जन्मदिन पार्टी में बुलाया और फिर साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मर्ग दर्ज कर, मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं दूसरी ओर पार्षद की हत्या से नाराज उसके परिजन और दोस्तों ने बारादरी चौराहा पर चक्काजाम कर पुलिस थाना का घेराव किया।

क्या है पूरा मामला
मुरार में रहने वाला राधा कुशवाह ने बताया कि 23 नवंबर (बुधवार) को मेरी एनिवर्सिरी थी। पति शैलू उर्फ शैलेंद्र कुशवाह वार्ड नंबर 3 से पार्षद थे। बुधवार शाम को करीब छह बजे पार्षद पति घर आए थे। तभी बच्चों ने शादी की सालगिरह के लिए केक और मिठाई लाने की जिद पति शैलू कुशवाह से की। इस पर वह केस और खाने – पीने का सामान लेने बाजार चले गए। जहां से रात करीब 10 बजे घर लौटे और एनीवर्सिरी केक और सामान लेकर आ गए। इसके कुछ समय बाद राज उर्फ राजेश शर्मा, भूरा उर्फ सर्वेश तोमर, विक्की कौशल, विनीत राजावत और धीरज पाल आए थे। साथ ही पति शैलू उर्फ शैलेंद्र कुशवाह को साथ लेकर चले गए। शैलू उर्फ शैलेंद्र कुशवाह के दोस्त विक्की का बुधवार को जन्मदिन था। उसने देर रात बर्थडे पार्टी आयोजित की थी। पति शैलू जब एनीवर्सिरी केक लेकर घर पहुंचा था। इसके कुछ ही समय बाद राज उर्फ राजेश शर्मा, भूरा उर्फ सर्वेश तोमर, विक्की कौशल, विनीत राजावत और धीरज पाल शैलू के घर गए। विक्की की बर्थडे पार्टी के लिए शैलू को बुलाकर ले गए। इसके ढ़ाई घंटे बाद शैलू पर जानलेवा हमले की सूचना परिजनों को मिली।

एक दिन पहले हुई थी भूरा से लड़ाई
शैलू कुशवाह के साथ सुबह से ही राजेश शर्मा साथ में था। शैलू की एक दिन पहले ही भूरा तोमर से लड़ाई हुई थी। तब भूरा को मैंने भी समझाया था। लेकिन, उसे समझ नहीं आया। यूं तो भूरा से करीब दो – तीन महीने पहले से लड़ाई चल रही थी। यह झगड़ा ढ़ाबे पर खा – पीकर हंगामा करने के कारण हुआ था। लेकिन, दो दिन पहले ही भूरा ने दोबारा बातचीत शुरू की थी। शैलू ने भी अपनी तरफ से बातचीत शुरू की थी।

रात 11.30 बजे तक हुई शैलू से बात
पत्नी राधा कुशवाह ने बताया कि बुधवार रात 11.30 बजे तक पति शैलू कुशवाह से बात हुई है। तब तक सबकुछ सामान्य था। एनीवर्सिरी केक काटने के लिए बुलाने पर शैलू ने कहा था – थोड़ी में आ रहा हूं। लेकिन, वह नहीं आए। पूछने पर राधा ने बताया कि शैलू अक्सर रात 12 बजे के बाद ही घर आते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.