श्याेपुर में PM माेदी ने कहा-हमने अतीत में की गईं गलतियाें काे सुधारा

ग्वालियर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने जन्मदिन के अवसर पर आज देश को चीता युग की वापसी का उपहार दिया है। श्योपुर के कूनो अभयारण्य में चीतों को बाड़े में छोड़ने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संदेश में कहा कि आज हमने अतीत में की गई गलतियों को सुधारा है। आज हमने पूरी दुनिया को संदेश दिया है कि हम पर्यावरण के साथ विकास भी कर सकते हैं। हम पांचवी अर्थव्यवस्था भी बने हैं और पर्यावरण संरक्षण भी कर रहे हैं। टाइगर की संख्या दोगुनी करने का लक्ष्य भी हमने समय से पहले पूरा किया है। आने वाली सदियों तक वन्य जीवों और पर्यावरण के लिए किए जा रहे प्रयासों का सकारात्मक असर दिखाई देगा। आज समय है कि हम ग्लोबल चुनाैतियों को व्यक्तिगत चुनाैती भी मानें। भारत के प्रयास पूरी दुनिया के लिए पथ प्रदर्शक बनेगा।

पीएम नरेन्द्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में कहा कि आजादी के अमृतकाल में देश अब नई ऊर्जा के साथ चीतों के पुनर्वास के लिए जुट गया है। आज हमारी वर्षों की मेहनत रंग लाई है। चीतों की भारत की धरती पर पुनर्जीवित किया जा रहा है। यह राजनीतिक दृष्टि से नहीं किया बल्कि चीता लाकर हमने विरासत को संजोया है। इसके लिए पूरे देश में चीतों के लिए सबसे उपयुक्त स्थान की खोज की गई और कूनो को इसके लिए सबसे बेहतर पाया। ये मेहनत परिणाम के रूप में सामने आई है। कूनो नेशनल पार्क में जब चीता फिर से दाैड़ेगा तो यहां का ग्रास लैंड इको सिस्टम फिर से रिस्टोर होगा। इसके साथ ही विकास और समृद्धि के नए रास्ते भी खुलेंगे। कूनो में ईको पर्यटन भी बढ़ेगा। आने वाले दिनों में चंबल में विकास की संभावनाएं जन्म लेंगी।

पीएम का आग्रह कुछ माह करें इंतजार
पीएम मोदी ने कहा कि चीते मेहमान बनकर आए हैं इसलिए इनको कुछ समय देना पड़ेगा। ऐसे में आपसे आग्रह है कि चीतों को देखने के लिए आपको कुछ माह का इंतजार करना पड़ेगा और कुछ धैर्य रखना होगा। पीएम ने कहा कि खुद के फायदे के लिए जीना ठीक नहीं है बल्कि परोपकार के लिए जियें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.