मंत्रिमंडल विस्तार में मेरे सुझावों की पूर्णतः अनदेखी करना उन सबका अपमान है जिनसे मै जुड़ी हुई हूं- उमा भारती

भोपाल. भारतीय जनता पार्टी की उपाध्यक्ष व पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती गुरूवार को 1992 की बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में मुकदमे का संचालन करने वाली लखनऊ की विशेष सीबीआई अदालत में पेश हुई। सीबीआई अदालत वर्तमान में सीआरपीसी धारा 313, अभियुक्तों की जांच के लिए अदालत की शक्ति के तहत 32 अभियुक्तों के बयान दर्ज किये है। मुकदमे में एक चरण जो अभियोजन पक्ष के गवाहों की परीक्षा का पालन करता है। वो 27 साल से अधिक पुराने मामले में अदालत के समने पेश होने वाला 19वीं आरोपी है।
उमा भारती, शिवराज मंत्रिमंडल से नाराज
उमा भारती ने मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल के विस्तार में जातीय असंतुलन को लेकर कुछ नाराज नजर आईं। ऐसा बताया जा रहा है कि उन्होंने पार्टी नेतृत्व के समक्ष सैद्धांतिक असहमति भी जताई है। जानकारी के अनुसार उमा भारती ने भाजपा नेतृत्व को भेजे संदेश में कहा है कि मुझे मध्यप्रदेश के मंत्रिमंडल की जो जानकारियां मिल रही है जिनके अनुसार प्रस्तावित मंत्रिमंडल में जातीय समीकरण बिगड़ हुआ है जिसका मुझे दुख है। मंत्रिमंडल के गठन में मेरे सुझावों की पूर्णतः अनदेखी करना उन सबका अपमान है जिनसे मै जुड़ी हुई हूं इसलिस जैसे कि मैंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से बात की है उसके अनुसार सूची में संशोधन कीजिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *