बड़ा खुलासा ग्वालियर लोकसभा क्षेत्र 43 हजार संदिग्ध मतदाता प्रशासन अमले में मचा हड़कम्प, ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में 10 हजार संदिग्ध मतदाता

ग्वालियर. मध्यप्रदेश में आगामी कुछ माह में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में मतदाता सूची के पुनः निरीक्षण का काम चल रहा है। इसी बीच ग्वालियर में मतदाता सूची की जांच के बीच बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल जिले में 43 हजार से अधिक मतदाता संदिग्ध पाये गये हैं। इस खुलासे से प्रशासन में हड़कंप मच गया है और इन संदिग्ध मतदाताओं की जांच शुरू कर दी गयी है।
क्या है पूरा मामला
पुर्ननिरीक्षण के बीच जब मतदाता सूची को सॉफ्टवेयर से मिलान किया गया तो सॉफ्टवेयर में जिले में 6 विधानसभाओं में 43 हजार 734 मतदाता संदिग्ध पाये गये हैं। इनमें से 90 मतदाताओं के पते एक जैसे जाये गये हैं। वहीं 43 हजार से अधिक मतदाताओं की तस्वीरें एक जैसी पायी गयी है। जिसके आधार पर सॉफ्टवेयर ने इन मतदाताओं को संदिग्ध माना है। उप जिलानिर्वाचन अधिकारी जेपी गुप्ता ने बताया है कि जिले की मतदाता सूची में जो संदिग्ध मतदाता पाये गये हैं। उनके वेरिफिकेशन का काम शुरू किया जा रहा है। इसके लिये एआरओ (असिस्टेंट रिटर्निंग ऑफिसर) और बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) सत्यापन का काम कर रहे हैं। सत्यापन के बाद बचे हुए संदिग्ध मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटाये जायेंगे।
इतनी बड़ी तादाद में संदिग्ध मतदाताओं के सामने आने के बाद जिला निर्वाचन कार्यालय इनके वेरिफिकेशन में जुट गये हैं। सबसे अधिक 11 हजार संदिग्ध मतदाता ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में पाये गये है। वहीं ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में भी 10 हजार के करीब संदिग्ध मतदाता मिले हैं।
आपको बता दें 4 जनवरी को अंतिम सूची का प्रकाशन किया जायेगा। उससे पहले सभी दावे, आपत्ति और संदिग्ध मतदाताओं का सत्यापन किया जा रहा है। 8 दिसम्बर तक मतदाता सूची अपडेशन का काम चलेगा। इसके लिये अलग-अलग जिलो में कैम्प लगाये जा रहे हैं। खास बात यह है कि इस बार 17 वर्ष से अधिक आयु वाले युवाओं के भी आवेदन लिये गये हैं। उनकी संख्या हजारों में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.