स्मार्ट सिटी परियोजनाओं का लाभ शहरवासियों को मिले .कलेक्टर

ग्वालियर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत जो कार्य किए गए हैं उसका लाभ जनता को मिले, इसके लिये प्रोजेक्टों को शीघ्र पूर्ण कर जनता के लिये प्रारंभ किए जाना चाहिए। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट तभी सार्थक सिद्ध होंगे, जब जनता को उसका बेहतर लाभ मिलने लगेगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को स्मार्ट सिटी के तहत ग्वालियर में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा बैठक में यह बात कही।
मोतीमहल के कमांड कंट्रोल सेंटर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह, अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह सहित विभागीय अधिकारी और स्मार्ट सिटी के तकनीकी अधिकारी उपस्थित थे।
स्मार्ट सिटी के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय बस स्टेंड निर्माण का जो प्रोजेक्ट है उसे भी प्राथमिकता के साथ किया जाना चाहिए। इसके लिये भूमि आवंटल एवं अन्य जो प्राथमिकता हैं उसे तत्परता से पूर्ण किया जायेगा। स्मार्ट सिटी के माध्यम से इंटरसिटी एवं अंतर्राज्यीय बस सेवा के कार्य को भी प्राथमिकता से किया जाए। इसके माध्यम से शहरवासियों को बेहतर यातायात उपलब्ध हो सकता है। शीघ्र ही स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे कार्यों का अवलोकन भी करेंगे और कार्यों को तेजी से किस प्रकार पूर्ण किया जा सकता है उसके लिये सभी विभागों के समन्वित प्रयास से कार्य करेंगे।
बैठक में सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह ने बताया कि ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा 11 मॉड्यूल के तहत 71 प्रोजेक्टों पर कार्य किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी की कुल परियोजना 2250 करोड़ रूपए की है। स्मार्ट सिटी के माध्यम से खेल मैदान, उद्यान विकास, परिवहन, हैरीटेज के साथ.साथ शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *