छापा-पान मसाला व्यापारी माटा के निवास छापा, डेढ करोड़ नगद जब्त

इन्दौर. केन्द्रीय एजेंसी डायरेक्टर जनरल ऑफ गुड्स एण्ड सर्विस इंटेलीजेंस (डीजीजीएसआई) और डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंसी(डीआरई) ने शनिवार की शाम को सियागंज के पान मसाला व्यापारी माटा परिवार के निवास पर छापा मार कर बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया।
क्या है पूरा मामला
माटा परिवार के पलसीकर कॉलोनी स्थित सुखधाम पैलेस निवास पर हुई कार्यवाही में अधिकारियों को लगभग डेढ़ करोड़ रूपये नगर कैश मिला हैं और यह ब्लैक मनी है कि नहीं, इसकी जांच हो रही है। वहीं, व्यापारी के जूनी इन्दौर स्थिति हरिओम ट्रेडर्स व क्रिश इंटरप्रायजेज संस्थान के साथ ही पालदा, छावनी स्थित गोदामों पर भी टीम पहुंची है और इसमें बड़ी मात्रा में पान मसाला के बड़े ब्रॉण्ड के नकली पाउच मिले हैं। जांच अधिकारियों को कई और जगह पर भी ठिकाने होने की जानकारी मिली है। जहां पर टीम लगातार पहुंच रही है। यज कार्यवाही दो दिन और चलने की संभावना व्यक्त की है। जिसमें करोड़ों रूपयों की टैक्स चोरी होने की आशंका जताई जा रही है।
क्योंकि गुटखे पर सैस व जीएसटी की हाई टैक्स दर लगती है, इसलिये इसके नकली पाउच बनाकर बेचा जा रहा था। यहां से बनाकर इसे मप्र के साथ ही महाराष्ट्र, गुजरात व अन्य जगहों पर भी भेजा जा रहा था। कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन में गुटखा प्रतिबंधित होने के चलते यह बड़े ब्राण्ड 2 से 3 गुनी कीमत में चोरी छिपे बिक रहे थे इसका लाभ लेते हुए व्यापारी कई राज्यों में विविध परिवहन माध्यमों से छिपकर इसकी सप्लाई कर रहे थे।
2015 में भी पड़ चुका है छापा
सेंट्रल एक्साइज की प्रिवेंटिव विंग ने गुरुनोमल माटा और इनके बेटे संजय व संदीप के यहां जुलाई 2015 में भी छापा मारा था और तब भी इनके हरिओम ट्रेडर्स, पालदा, छावनी गोदामों में भारी मात्रा में नकली गुटखा मिलने के साथ ही, गुटखा बनाने का मिक्सर, कच्चा माल और पैकिंग मशीन मिली थी। खुद को पान.मसाला और सुपारी का कारोबारी बताते हैं, जबकि खुद का बनाया नकली गुटखा, सुपारी, पान मसाला बाजार में सप्लाई कर रहे थे। उन्होंने फैक्टरी और मशीनों के लिए जरूरी रजिस्ट्रेशन भी नहीं करवाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *