बंदूक का लायसेंस पाना है तो खुदवाओ तालाब-कलेक्टर

ग्वालियर. मप्र के ग्वालियर चंबल संभाग में हथियारों के शौकीनों की सूची काफी लम्बी है। उनके लिये एक अच्छी खबर आ रही है। लायसेंस पाने के लिये ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रमसिंह ने एक ऑफर दिया है जिसमें अगर कोई भी व्यक्ति तालाब खुदवाने में मदद करेगा या खोदेगा तो उसे बंदूक का लायसेंस मिलेगा। यह कवायद इसलिये की जा रही है क्योंकि इस बार आजादी के अमृत महोत्सव के तहत ग्वालियर जिले में 100 तालाबों खुदवाने हैं। इसके लिये कलेक्टर ने आम जनता की भी भागीदारी चाह रहे हैं। दूसरी ओर ऑफर पटल पर आने से पहले ही इस पर राजनीति भी शुरू हो गयी है।

कलेक्टर के आदेश पर राजनीति 
कलेक्टर के आदेश के बाद अब राजनीति शुरू हो गई है।  कांग्रेस ने इसे लोगों को हथियारों के लिए प्रेरित करने वाली कवायद बताया, तो वहीं बीजेपी सांसद विवेक नारायण शेजवलकर इसे एक बेहतर पहल बता रहे हैं।  दरसअल मध्य प्रदेश में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत प्रदेशभर के सरोवर का निर्माण होना है, जिसमें ग्वालियर के खाते में 100 तालाब हैं।  अगले एक साल में यह निर्माण पूरे भी करने हैं।  इनके निर्माण का लक्ष्य पूरा करने के लिए ही जिला प्रशासन ने नया विकल्प शुरू किया है। इसमें एक तालाब की खुदाई पूरी करवाने के बाद खुदाई कराने वाले को हथियार के लिए लाइसेंस दिया जाएगा ।  इसके लिए लोगों को आज ओर कल में कलेक्ट्रेट में अपना नाम दर्ज कराना होगा।   2  दिन तक नाम लेने के बाद और नाम नहीं लिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.