Politics

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

कांग्रेस नेता गोविंद सिंह की कोठी पर चल सकता है बुलडोजर, राजस्व और पुलिस की टीम घुसी कोठी में

मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। टीम कोठी के अंदर घुसी तो डॉ. गोविंद के समर्थकों ने विरोध कर दिया।

भिंड. लहार में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और एमपी विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह की कोठी की नपाई की जा रही है। राजस्व विभाग की टीम भारी पुलिस बल और क्यूआरएफ के साथ कोठी के भीतर घुसी। डॉ. गोविंद सिंह के समर्थकों ने टीम का विरोध कर दिया है और कुछ देर तनाव की स्थिति बनी हुई है। लहार एसडीएम विजयसिंह यादव ने टीम का सहयोग करने की अपील की है।

एसडीएम ने डॉ. गोविंद के समर्थकों को समझाइश दी। कहा- राजस्व टीम का सहयोग करें। इसके बाद भी नहीं माने तो और पुलिस बुलानी पड़ी।
कोठी सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनायी जाने की शिकायत के बाद से नपती की जा रही है। सरकारी जमीन पर कब्जा पाया जाता है तो कोठी पर बुलडोजर चल सकता है। इधर डॉ. गोविंद सिंह ने लहार भाजपा विधायक अंबरीश शर्मा पर आरोप लगाते हुए है कि वह दुश्मनों जैसा व्यवहार कर रहे हैं। हमारे कार्यकर्त्ताओं को चुन-चुन कर जेल में भेज रहे हैं। अब हमारा मकान तुडवाकर अपमानित करने का काम कर रहे है।
मैंने 1 इंच सरकारी जमीन पर कब्जा नहीं किया-डॉ. गोविंद सिंह
डॉ. गोविंद सिंह ने कहा है कि मैंने अपने जीवन में 1 इंच भी सरकारी जमीन या किसी दूसरे की जमीन पर कब्जा नहीं किया है। लहार विधायक के पिता का मकान 80प्रतिशत सरकारी जमीन पर बना हुआ है। लहार में लगभग 40प्रतिशत मकान सरकारी जमीन पर बने है। इस पर प्रशासन क्यों मौन है।
लोगों ने की थी सरकारी रास्ते पर कब्जा कर कोठी बनाने की शिकायत
पूर्व नेता प्रतिपक्ष के लहार स्थित कोठी के सीमांकन का मुद्दा गरमाया हुआ है। आज सीमांकन के लिए राजस्व विभाग की टीम सबसे पहले मढ़यापुरा स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर पहुंची। यहां से नपाई शुरू की गई। मेन रोड से कोठी नापी जाएगी। कोठी और आसपास के एरिया में दो सर्वे नंबर की तलाश की जाएगी। यह सर्वे नंबर सरकारी बताया जा रहा है। इन दोनों सर्वे नंबर को लेकर ही वार्ड 12 के रहने वाले जाटव समाज के लोगों ने शिकायत की थी कि कोठी सरकारी रास्ते पर कब्जा कर बनाई गई है।
डॉ. गोविंद के बेटे की याचिका खारिज
18 जुलाई को भी टीम नाप के लिए पहुंची थी, लेकिन तब नपाई पूरी नहीं हो सकी। इसके दूसरे दिन 19 जुलाई को कांग्रेस नेता के बेटे अमित प्रताप सिंह ने सीमांकन रोकने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी। यह खारिज हो गई। ऐसे में आज फिर कार्रवाई शुरू की गई है।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

दिग्गज जौहरी भगवान जगन्नाथ मंदिर के खजाने अनुमान तक नहीं लगा सके थे, 1978 में हुई दुर्लभ रत्नों की गणना

नई दिल्ली. ओडिशा में भगवानर जगन्नाथ मंदिर का खजाना 46 वर्षो के बाद खोला गया। इस मंदिर में भगवान जगन्नाथ, उनके बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा विराजमान है। 12वी सदी में बने इस मंदिर के रत्न भंडार में कई दुर्लभ रत्न, सोने-चांदी के ज्वेलरी मौजूद है। इनमें भगवान के कीमती जेवरात बर्तन, राजाओं के मुकुट और भक्तों के द्वारा दान में दी गयी सोने-चांदी की बेशकीमती चीजें शामिल हैं।
वर्ष 1978 में जगन्नाथ मंदिर के खजाने को जब खोला गया था तो रत्नों की कीमत का आकलन करने में लिये जौहरी बुलाये गये थे। लेकिन वह भी खजाने की कुल कीमत का अंदाजा नहीं लगा सके थे। उस समय खजाने की गणना के लिये मुंबई और गुजरात से जौहरी आये थे जो खजाने में मौजूद दुर्लभ रत्नों को देख कर हैरान रह गये थे।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

कांग्रेस विधायक सुरेन्द्र पंवार गिरफ्तार

नई दिल्ली. अवैध खनन के मामले में ईडी की टीम ने बड़ा एक्शन लेते हुए हरियाणा के सोनीपत के कांग्रेस विधायक सुरेन्द्र पंवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पंवार यमुनानगर क्षेत्र में पैमाने पर अवैध उत्खनन करवाने का आरोप है। ईडी सुरेन्द्र पंवार को रिमांड के लिये अम्बाला के स्पेशल कोर्ट में ले जा रही है।
यह मामला यमुनानगर इलाके में सिंडिकेट द्वारा करीब 400-500 करोड़ रूपये के अवैध खनन से संबंधित है। हरियाणा पुलिस द्वारा अवैध खनन के संबंध में पंवार और अन्य के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज की थी। जिसके बाद पिछले साल ईडी ने जांच अपने हाथ में ली थी। इस वर्ष जनवरी ईडी द्वारा आईएनएलडी से पूर्व एमएलए दिलबाग सिंह, सुरेन्द्र पंवार और अन्य सहयोगियों के यहां 20 ठिकानों पर छापे मारे गये थे। ईडी इस मामले में दिलबाग सिंह और कुलविंदर सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

5 मिनट में एक्टिवा की डिक्की से उड़ाया कैश

ग्वालियर. दालबाजार में एक्टिवा की डिक्की का लॉक तोड़कर 2 बदमाश रूपयों से भरा पॉली बैग चोरी कर ले गयां पूरी घटना सिर्फ 5 मिनट में हुई है। बदमाश मोटरसाईकिल पर सवार होकर आये थे। एक बदमाश बाइक को स्टार्ट कर खड़ा रहा, जबकि दूसरा उतर कर गाड़ी तक गया और डिक्की तोड़कर कैश निकाल ले गया। घटना गुरूवार की शा की है यह पूरी घटना पास ही लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी। अब यह सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर सामने आया है। पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है।
क्या है मामला
शहर के बहोड़ापुर आनंद नगर निवासी रवि श्रीवास्तव पुत्र शंभूदयाल श्रीवास्ताव दाल बाजार की एक फर्म में मुनीम है। कारोबारी राजू राठौर के लिए काम करते हैं। रवि फर्म के लिए रिकवरी का काम करते थे। गुरुवार को वह बाजार में वसूली करने निकले थे और अशोका लाइट के प्रोपराइटर सुनील पंजवानी से 91 हजार 700 रुपए पेमेंट उठाया। इसके बाद मैना वाली गली पहुंचे और वहां पर अपनी एक्टिवा बाहर खड़ी कर चेंबर में चले गए। गाड़ी उनकी आंखों के सामने खड़ी थी, इसलिए पेमेंट नहीं निकाला। करीब पांच मिनट बाद वह वापस आए तो उनके पैरों तले जमीन निकल गई, क्योंकि एक्टिवा की डिक्की खुली हुई थी। मामला समझ में आते ही शोर मचाया और पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया है।
CCTV कैमरे में कैद हुई घटना
पुलिस ने पास ही लगे CCTV कैमरे खंगाले तो दो युवक वारदात को अंजाम देते हुए कैद हुए हैं। एक युवक बाइक तैयार लेकर खड़ा हुआ था और दूसरा युवक मात्र कुछ ही मिनट में वारदात को अंजाम देकर निकल गया। बाइक चला रहा युवक काली-सफेद लाइन वाली शर्ट पहने था और वारदात को अंजाम देने वाला काली टीशर्ट और जींस पहने हुए था। पुलिस फुटेज के आधार पर दोनों चोरों की तलाश में लगी है।
पुलिस बोली
इस मामले में कोतवाली टीआई राकेश सिंह ने बताया कि मुनीम की शिकायत पर मामला दर्ज कर चोरों की तलाश की जा रही है, संदेही चोरों के फुटेज मिले हैं। फुटेज के आधार पर चोरों का पता लगाया जा रहा है।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

कलेक्टर ने हुरावली तिराहे पर पकड़ीं ट्रैक्टर-ट्रॉलियां, रेत के अवैध परिवहन में लिप्त तीन ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त

ग्वालियर – रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन व भण्डारण के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी छापामार कार्रवाई कर रेत के अवैध करोबार पर सख्ती से अंकुश लगाया जा रहा है। इस कड़ी में कलेक्टर रुचिका चौहान ने हुरावली तिराहे से रेत से भरी तीन ट्रैक्टर ट्रॉलियाँ पकड़ी हैं।
शुक्रवार को क्षेत्र के भ्रमण पर निकलीं कलेक्टर को हुरावली तिराहे पर रेत से भरी तीन ट्रैक्टर ट्रॉलियां खड़ी दिखाई दीं। कलेक्टर द्वारा किए गए निरीक्षण के दौरान ट्रेक्टर चालकों  पर रॉयल्टी की रसीद नहीं पाई गई। उन्होंने खनिज विभाग के अधिकारियों के माध्यम से इन ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को विधवत जब्त कराकर पुलिस थाना सिरोल भिजवाया । रेत के इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किए गए हैं। जिला खनिज अधिकारी ने बताया कि तीनों ट्रैक्टर मालिकों से अर्थदण्ड भी वसूला जायेगा।
Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

पतालपानी से कालाकुण्ड के बीच चलेगी हेरिटेज ट्रेन, इन्दौर में 10 किमी के ट्रैक पर 5 कोच के साथ वीक में 2 दिन दोडेंगी हेरिटेज ट्रेन

हेरिटेज ट्रेन में इस तरह की आरामदायक सीट में बैठ कर यात्री सफर करेंगे।इन्दौर. एमपी की इकलौती पातालपानी-कालाकुण्ड हैरिटेज ट्रेन शनिवार से प्रारंभ की जायेगी। पर्यटकों की मांग के बाद रेलवे ने गुरूवार की देर शाम हेरिटेज ट्रेन शुरू होने की खबर पत्रकारों के साथ शेयर की। इसकी बुकिंग शुक्रवार से शुरू की जायेगी। 20 जुलाई से शुरू होने वाली हैरिटेज ट्रेन वीक में 2 दिन यानी प्रति शनिवार एवं रविवार का चलेगी। ट्रेन नम्बर 52965/52966 पातालपानी-कालाकुण्ड हेरिटेज ट्रेन के लिये टिकट की बुकिंग प्रारंभ् होने के साथ सभी पीआरएस काउंटरों और आईआरसीटीसी वेबसाइट के जरिये टिकट बुक किया जा सकता है।
हेरिटेज ट्रेन मऊ स्टेशन पर पहुंची
हेरिटेज ट्रेन संचालन से पहले हेरिटेज पॉवर कार मेंटेनेस के बाद महू स्टेशन आ चुकी है और इसके साथ ही पातालपानी-कालाकुण्ड, टंट्या भील, व्यू पॉइंट स्टेशन को और बेहतर कर दिया गया है। हेरिटेज ट्रेन शनिवार की सुबह 11.05 बजे पातालपानी कसे कालाकुंड के लिये रवाना होगी। जिसे सांसद लालवानी हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार हेरिटेज ट्रेन पातालपानी से कालाकुंड के बीच 10किमी ट्रैक पर यात्रा के दौरान यात्री पातालपानी स्टेशन, पातालपानी वाटरफॉल, वैली ब्रिज कालाकुंड और टनल के रोमांच का लुत्फ उठायेंगे।
इंदौर से ऐसे पहुंच सकते हैं ट्रेन तक
रेलवे इंदौर से महू और पातालपानी तक हेरिटेज ट्रेन में ले जाने के लिए डेमू चलाने का निर्णय कर रहा है। हालांकि रेलवे सूत्रों का कहना है कि शुरुआत में कुछ दिन यात्रियों को पातालपानी तक सड़क मार्ग से ही जाना पड़ेगा। हालांकि रेलवे महू से पातालपानी तक ब्राडगेज रेल लाइन का निरीक्षण कर चुका है। एक दो दिन में रतलाम से होकर महू जाने वाली डेमू ट्रेन 09390 को पातालपानी तक विस्तार किया जा सकता है। जिसके बाद रेल यात्री इंदौर और महू रेलवे स्टेशन से सीधे ट्रेन द्वारा की पातालपानी रेलवे स्टेशन पहुंच सकेंगे।
इस समय पर चलेगी ट्रेन
ट्रेन संख्या 52965 पातालपानी कालाकुंड हेरिटेज ट्रेन 11.05 बजे पातालपानी से चल कर 13.05 बजे कालाकुंड पहुंचेगी। वहीं वापसी ट्रेन संख्या 52966 कालाकुंड पातालपानी हेरिटेज ट्रेन कालाकुंड से 15.34 बजे चल कर 16.30 बजे पातालपानी पहुंचेगी। हेरिटेज ट्रेन पातालपानी से कालाकुंड 2 घंटे में पहुंचती है। वापसी में काला कुंड से पातालपानी तक आने में ट्रेन को एक घंटा लगता है। ट्रेन काला कुंड पहुंचने के बाद वहां लाेगाें को घूमने के दौरान करीब दो घंटा खड़ी रहेगी। इस दौरान यात्री कालाकुंड के झरने और पहाड़ों की सैर कर सकेंगे।
2018 में हुई थी शुरुआत
पातालपानी से कालाकुंड की वादियों के ट्रैक को 2018 में हेरिटेज ट्रैक घोषित किया गया था। इसी के साथ प्रदेश की एकमात्र हेरिटेज ट्रेन की शुरुआत हुई थी। महू-पाताल पानी-कालाकुंड तक चलने वाली यह हेरिटेज ट्रेन शुरुआत से ही यात्रियों को खूब रास आई। प्रत्येक वर्ष वर्षा काल में इसका संचालन किया जा रहा था। बता दें कि यह रेलवे लाइन वर्ष 1877 में बिछाई गई थी। कुछ वर्ष पहले इस ट्रैक को बंद करने की योजना थी, लेकिन पर्यटन स्थल को देखते हुए यहां छोटी ट्रेन चालू रखी गईं।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

सम्पत्तिकर में 6 प्रतिशत की छूट 30 अगस्त तक बढ़ाई

पार्षद श्री गिर्राज सिंह कंसाना एवं श्रीमती मंजू दिग्विजय सिंह राजपूत बने पेनल सभापति
ग्वालियर – नगर निगम परिषद के साधारण सम्मेलन का आयोजन सभापति मनोज तोमर की अध्यक्षता में निगम परिषद कार्यालय में किया गया। बैठक में चर्चा कर निर्णय लिए गए।
निगम परिषद की आयोजित बैठक में सभापति ने उनकी अनुपस्थिति में निगम के सम्मेलनों की अध्यक्षता करने के लिए नियमानुसार दो निर्वाचित पार्षदगणों गिर्राज सिंह कंसाना, वार्ड क्र. 29 एवं श्रीमती मंजू दिग्विजय सिंह राजपूत, वार्ड क्र. 03 को पेनल सभापति बनाया गया।
बैठक में निगम परिषद में आयोजित बैठक में मुरार केन्टोमेन्ट बोर्ड से नागरिक क्षेत्र पृथक कर नगर निगम ग्वालियर में शामिल किये जाने के संबंध में प्राप्त निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने स्वीकृति प्रदान करते हुए कहा कि निगम में कैंटोनमेंट को विलय करने पर अतिरिक्त व्यय होगा। उक्त व्यय की राशि शासन से मांग की जाए।
बिंदु क्रमांक 2 म.प्र. राजपत्र प्राधिकार से प्रकाशित क्रमांक 46 भोपाल 13.11.2020 अनुसार गत वर्ष की भांति वित्तीय वर्ष 2024-25 में कलेक्टर गाइडलाइन अनुसार सम्पत्ति कर की दरों के निर्धारण किये जाने के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने निगमायुक्त हर्ष सिंह को निर्देशित किया कि उक्त ठहराव के संबंध में जो भी निर्णय लिए गए हैं उनका पालन कराना सुनिश्चित करें।
बिंदु क्रमांक 3 बजट संशोधन क्र. 20 जीएल कोड क्र. 2308004 प्रपत्र 7 में पूर्वानुसार राशि से 20 करोड का प्रावधान किया जाना आवश्यक है ताकि निविदा उपरांत श्रमिकों का वेतन भुगतान संभव हो सके। बजट संशोधन के संबंध में निगमायुक्त को प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने सर्वसम्मति से उक्त प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की।
बैठक में बिंदु क्रमांक चार म.प्र.म.क्षे.वि.वि.क.लि. के द्वारा नगर निगम ग्वालियर सीमान्तर्गत लगाये जाने वाले पोल, ट्रांसफार्मर के अनापत्ति प्रमाण-पत्र दिये जाने के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत प्रस्ताव को स्वीकृत करते हुए प्रतिपोल 2000 रूपये एवं ट्रांसफार्मर पर 5000 हजार रूपये करने के निर्देश दिए।
बैठक में बिंदु क्रमांक पांच हुरावली स्थित निगम भूमि पर व्यावसायिक एवं आवासीय अत्याधुनिक परिसर के निर्माण हेतु डी.पी.आर. बनाने एवं निविदा आमंत्रण करने की स्वीकृति के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत डीपीआर की स्वीकृति प्रदान करते हुए निर्देशित किया परीक्षण करने के उपरांत निविदा जारी करने का निर्णय लिया जाएगा।
बिंदु क्रमांक छः सागरताल स्थित निगम भूमि पर व्यावसायिक एवं आवासीय अत्याधुनिक परिसर के निर्माण हेतु डी.पी.आर. बनाने एवं निविदा आमंत्रण किये जाने की सैद्धान्तिक स्वीकृति के संबंध में डीपीआर की स्वीकृति प्रदान की जाती है। साथ ही निगमायुक्त को निर्देशित किया कि उक्त प्रोजेक्ट की जांच करें तथा मौके पर कार्य चल रहा है और स्वीकृति नहीं हुई है तो संबंधित अधिकारियों पर कार्यवाही कर 15 दिवस में सदन को अवगत करावें।
साथ ही वित्तिय वर्ष का संपत्ति कर जमा करने पर 6 प्रतिशत की छूट अवधि नियमानुसार 30 अगस्त तक बढाने की स्वीकृति प्रदान की। इसके साथ ही बैठक में शहर विकास से संबंधित अन्य बिंदुओं पर चर्चा कर निर्णय लिए गए तथा उक्त बिंदुओं पर चर्चा उपरांत बैठक समाप्ति की घोषणा की गई।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

क्या जायेगी IAS पूजा खेड़कर की अफसरी, UPSC ने कराई FIR

नई दिल्ली. महाराष्ट्र कैडर की प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी पूजा खेडकर की परेशानी बढ़ गयी है। विवादों में घिरने के बाद संघ लोक सेवा आयोग () ने पूजा खेडकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गयी है। इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा 2022 से उनकी उम्मीदवारों रद्द करने और भविष्य की परीक्षाओं से उन्हें रोकने के लिये कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

आयोग (UPSC) ने नोटिस जारी कर पूजा खेडकर से जवाब मांगा है कि आपकी उम्मीदवारी क्यों रद्द की जाए और आगामी यूपीएससी की परीक्षाओं से वंचित क्यों न रखा जाए. यूपीएससी की ओर से कहा गया है, ‘पूजा खेडकर के खिलाफ विस्तृत जांच कराई गई है. इसमें पता चला है कि उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा 2022 में नियमों का उल्लघंन किया था. उनकी परीक्षा में बैठने की लिमिट पूरी हो गई थी. इसके बाद उन्होंने फर्जी तरीके से अपनी पहचान बदलकर यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा दी. उन्होंने अपने नाम, पिता का नाम, मां का नाम, फोटो और साइन तक बदल डाले. इसके अलावा मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और पता भी बदला. गलत तरीके से नई पहचान बनाने की वजह से उन्हें लिमिट से ज्यादा बार परीक्षा में बैठने का मौका मिला.’

Newsअंतरराष्ट्रीयमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

माइक्रोसॉफ्ट सर्वर डाउन होने से दुनियाभर में हड़कंप, कम्प्यूटर और बैंक, विमान सब प्रभावित

माइक्रोसॉफ्ट की तकनीकी समस्या के बाद गोवा एयरपोर्ट पर फंसे यात्री। इसी तरह की तस्वीरें हर एयरपोर्ट से आ रही हैं।

नई दिल्ली. भारत और अमेरिका समेत दुनियाभर के कई देशोंमें विमान सेवायें ठप्प हो गयी है। माइक्रोसॉफ्ट के सर्वर में परेशानी की वजह से उड़ान सेवाये प्रभावित हो रही है। कई कंपनियों के विमान उड़ान नहीं भर पा नरहे हैं। भारत में दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स तय समय से देरी से चल रही है। भारत सरकार ने इन तकनीकी परेशानी के बाद माइक्रोसॉफ्ट से संपर्क किया है। कई देशों की सरकारों ने इमरजेंसी बैठक बुलाई है।
स्पाइसजेट इंडिगो और अकासा एयरलाइंस ने भी इसी प्रकार की तकनीकी समस्या का हवाल दिया है। इंडिगो और स्पाइसजेट जैसी एयरलाइंस ने बताया है कि सर्वर में परेशानी की वजह सेवाये ठप्प है। एयरपोट्र पर चेक-इन और चेक-आउट सिस्टम ठप हो गये हैं। बुकिंग सेवा भी प्रभावित हुई है। सिर्फ विमान सेवायें ही नहीं बल्कि कई देशों में बैंकिंग सेवाओं से लेकर टिकट बुकिंग और स्टॉक एक्सचेंज पर भी असर पड़ा है।
भारत में, 5 एयरलाइन- इंडिगो, स्पाइसजेट, अकासा एयर, विस्तारा और एयर इंडिया एक्सप्रेस ने बताया कि उनकी बुकिंग, चेक-इन और फ्लाइट अपडेट सर्विस इस तकनीकी समस्या से प्रभावित हुई है। एयरपोर्ट पर लोग सर्विसेज नहीं मिलने से परेशान हो रहे हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा- समस्या का पता लगा लिया है
माइक्रोसॉफ्ट के एज्योर क्लाउड और माइक्रोसॉफ्ट 365 सर्विसेज में परेशानी आई है। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, “हमें समस्या की जानकारी है और हमने कई टीमों को इसे सुलझाने में लगाया है। हमने इसके कारण का पता लगा लिया है।”
क्लाउड कंप्यूटिंग प्लेटफॉर्म है माइक्रोसॉफ्ट ऐज्योर
माइक्रोसॉफ्ट ऐज्योर क्लाउड कंप्यूटिंग प्लेटफॉर्म है। ये एप्लिकेशन और सर्विसेज को बनाने, डिप्लॉय और मैनेज करने का काम करता है। वहीं माइक्रोसॉफ्ट 365 प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर है, जिसमें वर्ड, एक्सेल, पावरपॉइंट, आउटलुक और वन नोट जैसे लोकप्रिय एप्लिकेशन शामिल हैं।हैदराबाद और बेंगलुरु में ज्यादातर कॉर्पोरेट कंपनीज में वायरस अटैक की बात कही जा रही है। सिस्टम ब्लू स्क्रीन में आने के बाद रीस्टार्ट हो रहे हैं। हैदराबाद में कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को अगले 2 घंटे तक सिस्टम ऑफ करने को कहा है।

 

Newsअंतरराष्ट्रीयमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

अमेरिकी दूतावास के पास ड्रोन हमले में धमाके में 1 की मौत

नई दिल्ली. विस्फोट से पूर्व हवाई हमले का सायरन ही नही बजने की वजह से लोग सतर्क नहीं पाये और कई लोग घायल हो गये। जिनका उपचार चल रहा है। इजरायली सेना ने कहा है कि वह लड़ाकू विमानों द्वारा गश्त बढ़ायेगी। शुक्रवार की सुबह इजरायली के तेल अवीव में एक बड़ा धमाका सुना गया। जिसके बाद इजरायल रक्षाबलों ने पुष्टि की कि यह एक ड्रोन हमले की वजह से हुआ है। एक एम्बूलेंस सेवा ने कहा है कि एक व्यक्ति की छर्रे लगने से मौत हो गयी। उसका शव पास की एक इमारत में बेजान हालत में मिला। टाइम्स ऑफ इजराइल के मुताबिक 8 लोगों की स्थानीय अस्पतालों में ले जाया गया। जिनमें से 4 छर्रे लगने या विस्फोट की शॉक वेव से घायल हो गये और अन्य 4 का उपचार किया जा रहा है। इजरायली सेना ने कहा है कि प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि ‘एक हवाई लक्ष्य’ – एक शब्द जिसका उपयोग सेना ड्रोन के लिये करती है ने तटीय शहर को प्रभावित किया।
एक सैन्य बयान आया है कि ड्रोन के बिना सायरन बजाये, इजरायली हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद मामले की ‘‘सघन जांच’’ की जा रही है। टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक इसने यी भी कहा है कि वायुसेना इजरायली आसमान की रक्षा के लिये लड़़ाकू विमानों की गश्त बढ़ायेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि विस्फोट अमेरिकी दूतावास के बहुत नजदीक हुआ है। रिपोर्ट मेंबताया गया है कि विस्फोट से पूर्व तेल अवीव में कोई हवाई हमला सायरन सक्रिय नहीं किया गया था। यमन के हौथी उग्रवादियों के सैन्य प्रवक्ता ने बताया है कि समूल तेल अवीव को लक्षित करने वाले सैन्य अभियान के बारे में बतायेगा।


Warning: Undefined array key "sfsi_plus_copylinkIcon_order" in /home/webhutor/newsmailtoday.com/wp-content/plugins/ultimate-social-media-plus/libs/sfsi_widget.php on line 275
RSS
Follow by Email