Author: Vishal Jha

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

सम्पत्तिकर में 6 प्रतिशत की छूट 30 अगस्त तक बढ़ाई

पार्षद श्री गिर्राज सिंह कंसाना एवं श्रीमती मंजू दिग्विजय सिंह राजपूत बने पेनल सभापति
ग्वालियर – नगर निगम परिषद के साधारण सम्मेलन का आयोजन सभापति मनोज तोमर की अध्यक्षता में निगम परिषद कार्यालय में किया गया। बैठक में चर्चा कर निर्णय लिए गए।
निगम परिषद की आयोजित बैठक में सभापति ने उनकी अनुपस्थिति में निगम के सम्मेलनों की अध्यक्षता करने के लिए नियमानुसार दो निर्वाचित पार्षदगणों गिर्राज सिंह कंसाना, वार्ड क्र. 29 एवं श्रीमती मंजू दिग्विजय सिंह राजपूत, वार्ड क्र. 03 को पेनल सभापति बनाया गया।
बैठक में निगम परिषद में आयोजित बैठक में मुरार केन्टोमेन्ट बोर्ड से नागरिक क्षेत्र पृथक कर नगर निगम ग्वालियर में शामिल किये जाने के संबंध में प्राप्त निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने स्वीकृति प्रदान करते हुए कहा कि निगम में कैंटोनमेंट को विलय करने पर अतिरिक्त व्यय होगा। उक्त व्यय की राशि शासन से मांग की जाए।
बिंदु क्रमांक 2 म.प्र. राजपत्र प्राधिकार से प्रकाशित क्रमांक 46 भोपाल 13.11.2020 अनुसार गत वर्ष की भांति वित्तीय वर्ष 2024-25 में कलेक्टर गाइडलाइन अनुसार सम्पत्ति कर की दरों के निर्धारण किये जाने के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने निगमायुक्त हर्ष सिंह को निर्देशित किया कि उक्त ठहराव के संबंध में जो भी निर्णय लिए गए हैं उनका पालन कराना सुनिश्चित करें।
बिंदु क्रमांक 3 बजट संशोधन क्र. 20 जीएल कोड क्र. 2308004 प्रपत्र 7 में पूर्वानुसार राशि से 20 करोड का प्रावधान किया जाना आवश्यक है ताकि निविदा उपरांत श्रमिकों का वेतन भुगतान संभव हो सके। बजट संशोधन के संबंध में निगमायुक्त को प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत सभापति ने सर्वसम्मति से उक्त प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की।
बैठक में बिंदु क्रमांक चार म.प्र.म.क्षे.वि.वि.क.लि. के द्वारा नगर निगम ग्वालियर सीमान्तर्गत लगाये जाने वाले पोल, ट्रांसफार्मर के अनापत्ति प्रमाण-पत्र दिये जाने के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत प्रस्ताव को स्वीकृत करते हुए प्रतिपोल 2000 रूपये एवं ट्रांसफार्मर पर 5000 हजार रूपये करने के निर्देश दिए।
बैठक में बिंदु क्रमांक पांच हुरावली स्थित निगम भूमि पर व्यावसायिक एवं आवासीय अत्याधुनिक परिसर के निर्माण हेतु डी.पी.आर. बनाने एवं निविदा आमंत्रण करने की स्वीकृति के संबंध में निगमायुक्त के प्रतिवेदन पर चर्चा उपरांत डीपीआर की स्वीकृति प्रदान करते हुए निर्देशित किया परीक्षण करने के उपरांत निविदा जारी करने का निर्णय लिया जाएगा।
बिंदु क्रमांक छः सागरताल स्थित निगम भूमि पर व्यावसायिक एवं आवासीय अत्याधुनिक परिसर के निर्माण हेतु डी.पी.आर. बनाने एवं निविदा आमंत्रण किये जाने की सैद्धान्तिक स्वीकृति के संबंध में डीपीआर की स्वीकृति प्रदान की जाती है। साथ ही निगमायुक्त को निर्देशित किया कि उक्त प्रोजेक्ट की जांच करें तथा मौके पर कार्य चल रहा है और स्वीकृति नहीं हुई है तो संबंधित अधिकारियों पर कार्यवाही कर 15 दिवस में सदन को अवगत करावें।
साथ ही वित्तिय वर्ष का संपत्ति कर जमा करने पर 6 प्रतिशत की छूट अवधि नियमानुसार 30 अगस्त तक बढाने की स्वीकृति प्रदान की। इसके साथ ही बैठक में शहर विकास से संबंधित अन्य बिंदुओं पर चर्चा कर निर्णय लिए गए तथा उक्त बिंदुओं पर चर्चा उपरांत बैठक समाप्ति की घोषणा की गई।

LatestNewsमप्रमप्र छत्तीसगढ़राज्य

अतिक्रमण हटाने के दौरान पथराव, फायरिंग, हंगामा और फिर जाम

मुरैना. जौरा तहसील के बागचीनी चौखट्टा के पास उरहेडी गांव में जमीन पर कुछ प्रभावशालियों का कब्जा है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद राजस्व व पुलिस प्रशासन की टीम इस अतिक्रमण को हटाने पहुंची इसी दौरान अतिक्रमकारियों ने हंगामा करते हुए पथराव शुरू कर दिया। हंगामा इतना बढा कि पुलिस को लाठियां भांजनी पडीं। इस विवाद में फायरिंग की सूचना है लेकिन पुलिस ने फायरिंग की घटना को नकारा है।
हंगामे के बाद तीन महिलाओं को सडक पर लिटाकर जाम लगा दिया। बताया गया कि हंगामे व फायरिंग में दो महिलाओं की मौत हो गई लेकिन बागचीनी थाना प्रभारी राजकुमार परमार ने बताया कि सभी महिलाएं स्वस्थ है। वहीं कुछ लोगों का कहन है कि एक महिला की मौत हो चुकी है। अभी भी चक्काजाम लगा है। हालांकि इस मामले में अभी तक प्रशासन या पुलिस के अफसर कुछ नहीं बोल रहे है, मौके पर स्थिति तनाव पूर्ण है।

 

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

क्या जायेगी IAS पूजा खेड़कर की अफसरी, UPSC ने कराई FIR

नई दिल्ली. महाराष्ट्र कैडर की प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी पूजा खेडकर की परेशानी बढ़ गयी है। विवादों में घिरने के बाद संघ लोक सेवा आयोग () ने पूजा खेडकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गयी है। इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा 2022 से उनकी उम्मीदवारों रद्द करने और भविष्य की परीक्षाओं से उन्हें रोकने के लिये कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

आयोग (UPSC) ने नोटिस जारी कर पूजा खेडकर से जवाब मांगा है कि आपकी उम्मीदवारी क्यों रद्द की जाए और आगामी यूपीएससी की परीक्षाओं से वंचित क्यों न रखा जाए. यूपीएससी की ओर से कहा गया है, ‘पूजा खेडकर के खिलाफ विस्तृत जांच कराई गई है. इसमें पता चला है कि उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा 2022 में नियमों का उल्लघंन किया था. उनकी परीक्षा में बैठने की लिमिट पूरी हो गई थी. इसके बाद उन्होंने फर्जी तरीके से अपनी पहचान बदलकर यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा दी. उन्होंने अपने नाम, पिता का नाम, मां का नाम, फोटो और साइन तक बदल डाले. इसके अलावा मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और पता भी बदला. गलत तरीके से नई पहचान बनाने की वजह से उन्हें लिमिट से ज्यादा बार परीक्षा में बैठने का मौका मिला.’

LatestNewsमप्रमप्र छत्तीसगढ़राज्य

ग्वालियर में झोलाछाप डॉक्टरों के अवैध क्लीनिक पर छापेमारी से हड़कंप, बोर्ड हटाए

ग्वालियर. अवैध रूप से चिकित्सक का कारोबार कर रहे झोलाछापों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापामारी शुरू कर दी है। छापामारी की खबर सुनते ही झोलाछापों में हडकंप मच गया और अधिकतर अपनी-अपनी दुकानें बंद कर गए। कार्रवाई के डर से क्लीनिक से बोर्ड तक हटा लिए गए है जिससे छापामारी से बच सकें। दरअसल स्वास्थ्य विभाग के पास झोलाछाप की क्लीनिकों की अधिकृत कोई सूची नहीं है इसलिए यह लंबे समय से कार्रवाई सेे बचते रहे है। अब लोक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा आयुक्त ने इन पर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया तो मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टीम के साथ मैदान में उतरे।
शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में झोलाछाप के क्लीनिकों की बाढ़ सी आ गई है। वहीं उपचार के दौरान कई लोग इन झोलाछाप के इलाज से अपनी जान तक गंवा चुके हैं। प्रशासन द्वारा समय-समय पर झोलाछापों के खिलाफ कार्रवाई की जाती रही हैं। लेकिन जैसे ही मामला शांत होता है, फिर झोलाछाप सक्रिय हो जाते हैं। लेकिन इस बार शासन से मिले आदेश के बाद स्वास्थ्य विभाग की छापेमारी से झोलाछापों में खलबली मची हुई है।
बुधवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.आरके राजौरिया ने तीन टीम के साथ पिंटो पार्क, दीनदयाल नगर क्षेत्र में छापेमारी की। इस दौरान तीन टीम 13 जगह पहुंची और कार्रवाई की। इस कार्रवाई से कई झोलाछाप क्लीनिक बंद कर भाग खड़े हुए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजौरिया ने कहा कि कार्रवाई जारी रहेगी। अवैध तरीके से किसी भी क्लीनिक का संचालन नहीं होने दिया जाएगा।

 

Newsअंतरराष्ट्रीयमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

माइक्रोसॉफ्ट सर्वर डाउन होने से दुनियाभर में हड़कंप, कम्प्यूटर और बैंक, विमान सब प्रभावित

माइक्रोसॉफ्ट की तकनीकी समस्या के बाद गोवा एयरपोर्ट पर फंसे यात्री। इसी तरह की तस्वीरें हर एयरपोर्ट से आ रही हैं।

नई दिल्ली. भारत और अमेरिका समेत दुनियाभर के कई देशोंमें विमान सेवायें ठप्प हो गयी है। माइक्रोसॉफ्ट के सर्वर में परेशानी की वजह से उड़ान सेवाये प्रभावित हो रही है। कई कंपनियों के विमान उड़ान नहीं भर पा नरहे हैं। भारत में दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स तय समय से देरी से चल रही है। भारत सरकार ने इन तकनीकी परेशानी के बाद माइक्रोसॉफ्ट से संपर्क किया है। कई देशों की सरकारों ने इमरजेंसी बैठक बुलाई है।
स्पाइसजेट इंडिगो और अकासा एयरलाइंस ने भी इसी प्रकार की तकनीकी समस्या का हवाल दिया है। इंडिगो और स्पाइसजेट जैसी एयरलाइंस ने बताया है कि सर्वर में परेशानी की वजह सेवाये ठप्प है। एयरपोट्र पर चेक-इन और चेक-आउट सिस्टम ठप हो गये हैं। बुकिंग सेवा भी प्रभावित हुई है। सिर्फ विमान सेवायें ही नहीं बल्कि कई देशों में बैंकिंग सेवाओं से लेकर टिकट बुकिंग और स्टॉक एक्सचेंज पर भी असर पड़ा है।
भारत में, 5 एयरलाइन- इंडिगो, स्पाइसजेट, अकासा एयर, विस्तारा और एयर इंडिया एक्सप्रेस ने बताया कि उनकी बुकिंग, चेक-इन और फ्लाइट अपडेट सर्विस इस तकनीकी समस्या से प्रभावित हुई है। एयरपोर्ट पर लोग सर्विसेज नहीं मिलने से परेशान हो रहे हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा- समस्या का पता लगा लिया है
माइक्रोसॉफ्ट के एज्योर क्लाउड और माइक्रोसॉफ्ट 365 सर्विसेज में परेशानी आई है। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, “हमें समस्या की जानकारी है और हमने कई टीमों को इसे सुलझाने में लगाया है। हमने इसके कारण का पता लगा लिया है।”
क्लाउड कंप्यूटिंग प्लेटफॉर्म है माइक्रोसॉफ्ट ऐज्योर
माइक्रोसॉफ्ट ऐज्योर क्लाउड कंप्यूटिंग प्लेटफॉर्म है। ये एप्लिकेशन और सर्विसेज को बनाने, डिप्लॉय और मैनेज करने का काम करता है। वहीं माइक्रोसॉफ्ट 365 प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर है, जिसमें वर्ड, एक्सेल, पावरपॉइंट, आउटलुक और वन नोट जैसे लोकप्रिय एप्लिकेशन शामिल हैं।हैदराबाद और बेंगलुरु में ज्यादातर कॉर्पोरेट कंपनीज में वायरस अटैक की बात कही जा रही है। सिस्टम ब्लू स्क्रीन में आने के बाद रीस्टार्ट हो रहे हैं। हैदराबाद में कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को अगले 2 घंटे तक सिस्टम ऑफ करने को कहा है।

 

LatestNewsमप्रमप्र छत्तीसगढ़राज्य

ग्वालियर में बैग में मिली ढाई साल के बच्चे की लाश, हाथ-पैर रस्सी से बंधे

ग्वालियर. बहोडापुर में एक बैग में ढाई साल के बच्चे का शव मिला है। काले रंग का पिट्ठू बैग ट्रांसपोर्ट नगर की पार्किंग नंबर-1 में सडक किनारे पडा मिला। बच्चे के दोनों हाथ और एक पैर रस्सी से बंधे मिले है और उसके सिर में गहरी चोट है और पूरा सिर खुन से सना हुआ है, फिलाहाल बच्चे की शिनाख्त नहीं हो सकी है।

 

Newsअंतरराष्ट्रीयमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

अमेरिकी दूतावास के पास ड्रोन हमले में धमाके में 1 की मौत

नई दिल्ली. विस्फोट से पूर्व हवाई हमले का सायरन ही नही बजने की वजह से लोग सतर्क नहीं पाये और कई लोग घायल हो गये। जिनका उपचार चल रहा है। इजरायली सेना ने कहा है कि वह लड़ाकू विमानों द्वारा गश्त बढ़ायेगी। शुक्रवार की सुबह इजरायली के तेल अवीव में एक बड़ा धमाका सुना गया। जिसके बाद इजरायल रक्षाबलों ने पुष्टि की कि यह एक ड्रोन हमले की वजह से हुआ है। एक एम्बूलेंस सेवा ने कहा है कि एक व्यक्ति की छर्रे लगने से मौत हो गयी। उसका शव पास की एक इमारत में बेजान हालत में मिला। टाइम्स ऑफ इजराइल के मुताबिक 8 लोगों की स्थानीय अस्पतालों में ले जाया गया। जिनमें से 4 छर्रे लगने या विस्फोट की शॉक वेव से घायल हो गये और अन्य 4 का उपचार किया जा रहा है। इजरायली सेना ने कहा है कि प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि ‘एक हवाई लक्ष्य’ – एक शब्द जिसका उपयोग सेना ड्रोन के लिये करती है ने तटीय शहर को प्रभावित किया।
एक सैन्य बयान आया है कि ड्रोन के बिना सायरन बजाये, इजरायली हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद मामले की ‘‘सघन जांच’’ की जा रही है। टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक इसने यी भी कहा है कि वायुसेना इजरायली आसमान की रक्षा के लिये लड़़ाकू विमानों की गश्त बढ़ायेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि विस्फोट अमेरिकी दूतावास के बहुत नजदीक हुआ है। रिपोर्ट मेंबताया गया है कि विस्फोट से पूर्व तेल अवीव में कोई हवाई हमला सायरन सक्रिय नहीं किया गया था। यमन के हौथी उग्रवादियों के सैन्य प्रवक्ता ने बताया है कि समूल तेल अवीव को लक्षित करने वाले सैन्य अभियान के बारे में बतायेगा।

LatestNewsमप्रमप्र छत्तीसगढ़राज्य

MP में पुलिस जवान के शहीद होने पर परिवार को मिलेंगे एक करोड़ रुपये

भोपाल. मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि मप्र पुलिस को सशक्त बनाने के लिए संसाधनों की कोई कमी नही आने दी जाएगी। इसके लिए बजट में साढे 10 हजार करोड रुपए की व्यवस्था की गई है। मध्य प्रदेश में पुलिस कर्मियों के लिए इस वर्ष 25 हजार आवास बनाने का लक्ष्य है जिनमें से 12 हजार आवास बना लिए गए है। पुलिस का कोई जवान शहीद होता है तो परिवार को 1 करोड रुप्ए की राशि दी जाएगी। सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश के हर जिले में स्वतंत्र रूप से पुलिस बैंड दल कार्य करेगा। स्वर मेघ के तहत प्रस्तुत बैंड कार्यक्रम के सहभागी प्रत्येक सदस्य को 11-11 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मप्र पुलिस में 7500 पदों पर भर्तियां करने का निर्णय लिया गया है।
भोपाल में बनेगा 50 बिस्तर क्षमता वाला पुलिस अस्पताल
मुख्यमंत्री ने कहा कि मप्र पुलिस में 7500 पदों पर भर्तियां करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा भोपाल में 50 बिस्तर क्षमता के पुलिस अस्पताल का भी लोकार्पण किया जाएगा। यदि मध्य प्रदेश पुलिस का कोई जवान शहीद होता है तो एक करोड रुपए की राषि में से 50 प्रतिशत पत्नी और 50 प्रतिशत की राशि माता-पिता को प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि पुलिस ने निश्चित समय में थानों की सीमाओं का भी पुनर्निर्धारण किया है। मुख्यमंत्री यादव ने कहा कि मुझे इस बात की भी प्रसन्नता है कि पुलिस ने इस चुनौतीपूर्ण कार्य को किया है जिससे 22 हजार गांवों को इसका लाभ मिलेगा।

Newsमप्र छत्तीसगढ़राजनीतिराज्य

9वी की छात्रा के साथ गैंगरेप, इंस्टाग्राम दोस्ती कर कार में घूमने गये थे, बारी-बारी से दुष्कर्म और अश्लील वीडियो वायरल

ग्वालियर. शहर से 55 किमी दूर मोहना में इंस्ट्राग्राम पर दोस्ती के बाद युवक ने नाबालिग छात्रा को मिलने बुलाया और उसे कार में अपने साथ ले गया और अपने 2 अन्य दोस्तों के साथ गैंगरेप कर दिया। घटना मोहना थाना इलाके की है। घटना के बाद आरोपियों ने छात्रा का अश्लील वीडियो भी बना लिया। बदनामी के डर से छात्रा शांत रही तो आरोपी उसे ब्लैकमेल करने लगे। छात्रा ने मना किया तो आरोपियों ने उसका अश्लील वीडियो उसके रिश्तेदार और परिवार वालों को भेज दिया। परिवार ने जब वीडियो देखा तो इसका खुलासा हुआ और इसके बाद परिजन छात्रा को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस ने पीडि़त की शिकायत पर तीनों आरोपियों कृष्णा सोनी पुत्र चंदू सोनी, अंकेश रावत और सत्यम बाथम के खिलाफ दुष्कर्म, अपहरण समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। फिलहाल सभी आरोपी अपने घर से फरार हो गये हैं। जिनकी गिरफ्तारी के लिये पुलिस उनके संबंधित ठिकानों पर दविश दे रही है।
क्या है मामला
ग्वालियर मोहना निवासी 13 वर्षीय 9वीं कक्षा की छात्रा की तीन महीने पहले अप्रैल 2024 में अंकेश रावत से सोशल मीडिया के माध्यम से जान पहचान हुई थी। जान पहचान के बाद उनकी बातचीत होने लगी थी। युवक ने अपने दोस्त कृष्णा सोनी से भी उसकी दोस्ती करवाई थी। दोस्ती होने के बाद कृष्णा मई के महीने में छात्रा से मिलने आया था, उसके बाद एक बार और वह छात्रा से मिला था। इसके बाद जून महीने में युवक ने छात्रा को फोन करके मिलने के लिए कहा तो छात्रा उससे मिलने के लिए पहुंची तो युवक एक कार लेकर खड़ा था। छात्रा कार के पास पहुंची तो उसमें पहले से ही इंस्टाग्राम पर दोस्त बना अंकेश मौजूद था। उसके साथ एक अन्य युवक सत्यम बाथम भी बैठा हुआ था। इसके बाद में छात्रा से कहने लगा कि चलो हम कहीं घूम कर आते हैं। छात्र ने जब मना किया तो पुराना दोस्त बोला कि हम पर विश्वास नहीं है तो छात्र उनके साथ कार में बैठ गई। कार में बैठने के बाद तीनों युवक छात्रा को हाईवे पर ले गए और बारी-बारी से उसके साथ रेप किया।
आरोपी ने रिश्तेदारों को भेजा अश्लील वीडियो
ग्वालियर में इंस्टाग्राम पर दोस्ती के बाद युवक ने नाबालिग छात्रा को मिलने बुलाया और उसे कार में ले गया और अपने 2 अन्य साथियों के साथ मिलकर उसके साथ गैंग रेप किया। घटना के बाद आरोपियों ने छात्रा का अश्लील वीडियो भी बना लिये हैं। बदनामी के डर से छात्रा शांत रही तो आरोपी उसे ब्लैकमेल करने लगे। छात्रा ने मना किया तो आरोपियों ने उसका अश्लील वीडियो उसके रिश्तेदार और परिवार वालों को भेज दिया है। परिवार ने जब वीडियो देखा तो इसका खुलासा हुआ और इसके बाद परिजन छात्र को लेकर थाने पहुंचे और शिकायत की। पुलिस ने पीडि़त की शिकायत पर तीनों आरोपियों कृष्णा सोनी पुत्र चंदू सोनी, अंकेश रावत और सत्यम बाथम के खिलाफ दुष्कर्म, अपहरण समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। फिलहाल सभी आरोपी अपने घर से फरार हो गये है। जिनकी गिरफ्तारी के लिये पुलिस उनके संबंधित ठिकानों पर दविश दे रही है।
पुलिस बोली
हमने तीनों गैंगरेप को आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिये पुलिस टीम बनाकर आरोपियों के ठिकानों पर दविश दे रहे हैं। टीआई मोहना रशीद खान ने बताया कि हमारा प्रयास है कि तीनों आरोपियों शाम तक गिरफ्तार कर लेंगे।

 

LatestNewsमप्रमप्र छत्तीसगढ़राज्य

MP में CBI को जांच के लिए लेनी होगी परमिशन, मोहन सरकार का नया आदेश

भोपाल. केंन्द्रीय जांच एजेंसी को अब मध्य प्रदेश में किसी भी मामले की जांच करने से पहले प्रदेश सरकार से लिखित में परमिशन लेनी होगी। मध्य प्रदेश की मोहन यादव सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। मध्य प्रदेश के गृह विभाग की ओर से जो अधिसूचना जारी की गई है उसके अनुसार 1 जुलाई से ही वे व्यवस्था लागू रहेगी। बता दें कि सीबीआई को जांच के आदेश केन्द्र सरकार की ओर से जारी किए जाते है।
सीबीआई को लेनी होगी परमिशन
मध्य प्रदेश सरकार ने दिल्ली विशेष पुलिस स्थापना अधिनियम की धारा 3 की शक्तियों का उपयोग किया है। जिसके बाद गृह विभाग ने गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। राज्य सरकार के फैसले के बाद गृह विभाग के सेक्रेटरी गौरव राजपूत ने आदेश कर दिया है। सरकार का नया आदेश 1 जुलाई से प्रभावी रहेगा। आदेश के अनुसार सीबीआई को राज्य सरकार से लिखित में अनुमति लेनी होगी। इसके बाद ही निजी सरकार और अन्य लोगों के खिलाफ सीबीआई जांच होगी।


Warning: Undefined array key "sfsi_plus_copylinkIcon_order" in /home/webhutor/newsmailtoday.com/wp-content/plugins/ultimate-social-media-plus/libs/sfsi_widget.php on line 275
RSS
Follow by Email