जीवाजी विश्वविद्यालय समेत मप्र की अन्य यूनिवर्सिटी में लगेंगे अडानी ग्रुप के सोलर सिस्टम

ग्वालियर. जीवाजी विश्वविद्यालय सहित प्रदेश की अन्य चिन्हित यूनिवर्सिटी और सारे बड़े सरकारी महाविद्यालयों में अडानी ग्रुप के सोलर सिस्टम लगाए जा रहे हैं। खास बात यह है कि जिस फर्म के जरिए सोलर सिस्टम लग रहे है वह विवि और कॉलेजों से इसका कोई भुगतान नहीं ले रही है। फर्म अपने खर्चे पर ही ऐसा कर रही है बाद में सोलर सिस्टम के उत्पन्न होने वाली बिजली का प्रति यूनिट 1.99 रुपए विश्वविद्यालय और कॉलेजों को भुगतान करना होगा। जो सोलर सिस्टम लगाए जा रहे है उसमें शासन द्वारा दी जा रही सब्सिडी का पूरा लाभ फर्म को मिलेगा।
इन्वर्टर सहित अन्य उपकरण शीघ्र ही प्राप्त हो जाएंगे
मप्र शासन से फर्म ने इसी शर्त पर सोलर सिस्टम की सुविधा उपलब्ध कराने अनुबंधन किया है। जानकारी के मुताबिक अडानी ग्रुप के सोलर सिस्टम को सरकारी संस्थाओं के भवनों पर लगाने का प्रोजेक्ट मप्र के पूर्व बीजेपी सरकार ने स्वीकृत किया जिस पर अब कांग्रेस की सरकारी से समय अमल हो रहा है इसके तहत जेयू में पहली खेप में सोलर प्लेटें आ चुकी है। इन्वर्टर सहित अन्य उपकरण शीघ्र ही प्राप्त हो जाएंगे। इसके बाद जेयू के भवनों की छतों पर सोलर सिस्टम लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।
पहले 3 मंजिला भवनों पर लगेंगे
जेयू के जिन विभागों के मंजिला भवन हैं सबसे पहले उनके ऊपर सोलर सिस्टम लगाए जाएंगे इसके बाद 2 मंजिला भवनों पर लगाए जाएंगे। प्रशासन भवन से लेकर सारे शिक्षण विभागों में सोलर सिस्टम की बिजली का उपयोग किया जाएगा। विवि में जो बिजली खपत होती है उतनी पूर्ति सोलर सिस्टम से नहीं हो पाएगी लेकिन सौर ऊर्जा से जो बिजली उत्पन्न होगी वह बहुत सस्ती पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online