अगर हमारे पास राफल होता तो पाक के आतंकवादी हमले की स्थिति कुछ ओर होती-धनोआ

नई दिल्ली. वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल बीएस धनौआ ने सोमवार को कहा है कि बालाकोट हवाई हमलों में तकनीकी भारत के पक्ष मेंथी और यदि समय पर राफेल लड़ाकू विमान मिल जाते तो परिणाम देश के और भी पक्ष में होते है, वह भविष्य की एयरोस्पेस शक्ति और प्रौद्योगिकी के प्रभव पर आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे । उन्होनें कहा कि बालाकोट अभियान में हमारे पास प्रौद्योगिकी थी और हम बड़ी सटीकता के साथ हथियारों का उपयोग कर सकें और बाद में हम बेहतर हुए है क्योंकि हमने अपने मिग-21 बिसॉन और मिराज 2000 विमानों को उन्नत बनाया था।
बीएस धनोआ ने बताया कि यदि हमने समय पर राफेल विमान को शामिल कर लिया होता तो परिणाम हमारे पक्ष में और भी हो जाते । गत 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के जबाव में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाक के बालाकोट क्षेत्र में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शिविर में हवाई हमला किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online