ग्वालियर की खदानों में ब्लास्टिंग के लिए एसडीएम-एसडीओपी की रिपोर्ट लगेगी

ग्वालियर. अब बिना अनुमति खदानों में ब्लास्ट कर गिट्टी बनाने वाले क्रेशर संचालकों की मुसीबत और बढ़ने वाली है अभी तक अंधाधुंध ब्लास्टिंग कर रहे थे लेकिन अब अनुमतियों के ही चक्कर काटते रह जाएंगे। अब ब्लास्टिंग के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम और एसडीओपी दोनों की रिपोर्ट लगेगी इसके बाद अनुमति जारी हो सकेगी। जिला प्रशासन और पुलिस दोनों के ऑब्जर्वेशन के बाद यह तय होगा कि क्रेशर का संचालन होगा या नहीं।
हैरानी जताई कि यह सब कैसे चल रहा था- कलेक्टर अनुराग
52 खदानें बिना अनुमति के ब्लास्टिंग किए जाने का मामला सामने आने के बाद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने हैरानी जताई है कि यह सब कैसे चल रहा था। इस भारी अनियमितता के बाद ही यह निर्णय लिया गया है कि अब एसडीएम-एसडीओपी की रिपोर्ट आवश्यक होगी। जिले के डबरा अंतर्गत ग्राम बिलौआ, रफादपुर, गंगापुर, लखनपुरा, लधेरा में चल रहीं काले पत्थर की खदानों में बिना अनुमति ब्लास्टिंग किए जाने का मामला सामने आया है। ऐसी 52 खदानें है जो डीप और शॉर्ट होल ब्लास्टिंग से बिना अनुमति कर रही थी इन सभी खदान-क्रेशरों को कलेक्टर अनुराग चौधरी ने सस्पेंड कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online