एससीएसटी का विरोध- पिछले दरवाजे से भागे गहलोत, विदिशा में विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर को दिखाये काले झंडे

गुना/विदिशा/ग्वालियर. एससी, एसटी एक्ट में केंद्र सरकार द्वारा किए गए संशोधन की आंच ग्वालियर चंबल संभाग से फैलकर विदिशा तक पहुंच गई। समाज का एक बड़ा वर्ग एक्ट के खिलाफ एकजुट होकर लामबंद हुआ है।
विदिशा में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर के सामने एक्ट के खिलाफ सपाक्स कार्यकर्ताओं ने नारे लगाए। उधर विरोध के चलते गुना में केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को पुलिस ने सर्किट हाउस के पिछले दरबाजे से निकाला। वहीं भिंड में भाजपा सांसद भागीरथ प्रसाद और मुरैना में मंत्री रूस्तम सिंह की गाड़ी को युवाओं ने घेर लिया। भीड़ ने उन्हें काले झंडे दिखाए और भाजपा मुर्दाबाद के नारे लगाए। नारेबाजी लगभग 2 घंटे हुई। दूसरी ओर भिंड में पोस्ट ऑफिस के कार्यक्रम में शामिल होने आने से पूर्व भाजपा सांसद डॉ. भागीरथ प्रसाद के खिलाफ स्थानीय लोगों ने नारे लगाए। युवाओं ने सवर्ण एकता जिंदाबाद के नारे लगाए। गुना में सर्किट हाउस में मौजूद केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत और कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को संगठनों के विरोध के चलते पुलिस ने दोनों नेताओं को पिछले गेट से सुरक्षित बाहर निकलवाया। गहलोत ने विरोध कर रहे लोगों से ज्ञापन भी लिया।
विदेश राज्यमंत्री से कानून वापस लेने की मांग
विदिशा में सपाक्स कार्यकर्ताओं ने सर्किट हाउस परिसर में विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर का नारेबाजी करते हुए घेराव किया। उन्हें ज्ञापन देकर कानून वापस लेने की मांग भी की गई। कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष पदमसिंह भदौरिया बाहर पहुंचे तो कार्यकर्ताओं के साथ उनका जमकर विवाद हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online