हमारी सेना देश की एकता और अखंडता  की प्रतीक है- कमलनाथ

भोपाल.  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि हमारे देश की सेना में विभिन्न भाषा.भाषी और विभिन्न समाज के लोग एकजुट होकर देश की रक्षा में लगे हुए हैं। हमारी सेना एकजुटता और अखण्डता की प्रतीक है। यही एकजुटता हमारे देश की संस्कृति और सभ्यता है। लेकिन सभी धर्मों और जातियों को जोड़ने की हमारी संस्कृति पर एक खास विचारधारा का हमला हो रहा है। हम सब मिलकर उसे फलीभूत नहीं होंने देंगे।
कमलनाथ आज यहां कांग्रेस मुख्यालय के सभागार में प्रदेश भर से आये भूतपूर्व सैनिकों के प्रतिनिधियों और उनके परिवारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आप सभी ने अपना जीवन अखण्ड देश की रक्षा में लगाया है। अब हमें इस देश को जोड़ने की संस्कृति की रक्षा करनी है। समाज में भूतपूर्व सैनिकों को सम्मान की दृष्टि से देखा जाता हैए उनकी बात बड़े ध्यान से सुनी जाती है। सैनिकों की छवि एक निष्ठावान व्यक्ति की होती है। आप सभी ने कांग्रेस के प्रति अपनी निष्ठा व्यक्त की है। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि जनता को प्रदेश की वर्तमान तस्वीर दिखायें और सच्चाई से अवगत करायें। इसकी रणनीति आपको बनाना है कि यह काम किस तरह कर सकते हैं।
कैसे भाजपा की बहकाने की राजनीति से प्रदेश को बचा सकते हैं
कमलनाथ ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव प्रजातंत्र का उत्सव है। उन्होंने विजय अभियान के लिय पार्टी का झंडा पूर्व सैनिक विभाग को सौंपा। कमलनाथ ने सन् 1962, 65, 71 में और कारगिल युद्ध व श्रीलंका आपरेशन आदि में भाग लेने वाले 8 सैनिकों को सम्मानित किया। इनमें सुरेश राजपूत, टीएस सोढ़ी, रमेश पाण्डेय, विश्वबंधु कुमार, नारायण प्रसाद मालवीय, मृगेन्द्रसिंह तिवारी, यशवंत सिंह बैंकर और महेश राजपूत शामिल थे। बैठक के प्रारंभ में शहीदों की याद में दो मिनिट का मौन रखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online