गोपाल मंदिर पर जन्माष्टमी महोत्सव 03 सितंबर को

ग्वालियर नगरनिगम ग्वालियर द्वारा श्री कृष्ण जन्माष्ठमी महोत्सव फूलबाग स्थित गोपाल मंदिर पर 03 सितम्बर को बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। इस महोत्सव की तैयारियों को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर लीं गई हैं तथा कल जन्माष्ठमी के अवसर पर भगवान श्रीराधाकृष्ण को बेशकीमती गहनों से सजाया जाएगा तथा पूजा अर्चना के उपरांत दोपहर 12 बजे बाद भगवान के मनोहारी रुप के दर्शनों के लिए पट आमजनों के लिए खोल दिए जाएंगे।
बेशकीमती दुर्लभ आभूषणों से होगा राधाकृष्ण का श्रृंगार
राधाकृष्ण के श्रृंगार में नगर निगम द्वारा बैंक लॉकर में संचित करोड़ों रूपये कीमत के गहने उपयोग किये जायेंगे जिसमें सफेद मोतीवाला पंचगढ़ी हार लगभग 6 लाख कीमत का, 7 लढ़ी हार जिसमें 62 असली मोती और 55 पन्ने होंगे सन् 2007 मंे इनकी अनुमानित कीमत लगभग 10 से 12 लाख रू. आंकी गई थी, इसके अलावा सोने के तोड़े तथा सोने का मुकुट कृष्ण पहनेंगे जिनकी कीमत भी लगभग 50 लाख रूपये है। गोपाल मंदिर की राधाजी का ऐतिहासिक मुकुट जिसमें पुखराज और माणिक जणित के पंख है तथा बीच में पन्ना लगा है, 3 किलो वजन के इस मुकुट की कीमत आज की दरों पर लगभग तीन करोड़ आंकी गई है तथा इसमे लगे 16 ग्राम पन्ने की कीमत लगभग 16 लाख आंकी गई।
राधाकृष्ण के नकसिक श्रृंगार के लिये लगभग साढ़े 15 लाख रूपये के जेबर उपलब्ध हैं जिनमें श्रीजी तथा राधा के झुमके, सोने की नथ, कण्ठी, चूडि़यां, कड़े इत्यादि से भगवान को सजाया जायेगा। भगवान के भोजन इत्यादि के लिये भी प्राचीन बर्तनों की सफाई कर इस दिन भगवान का भोग लगाया जावेगा। लगभग 50 लाख रू. कीमत के चांदी के विभिन्न बर्तनों से भगवान की भोग आराधना होगी। जिनमें भगवान की समई, इत्रदान, पिचकारी, धूपदान, चलनी, सांकड़ी, छत्र, मुकुट, गिलास, कटोरी, कुंभकरिणी, निरंजनी आदि सामग्रियों का भी प्रदर्शन किया जावेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online