देश और समाज के लिए करें शिक्षा का व्यवहारिक उपयोग . श्रीमती आनंदीबेन पटेल

ग्वालियर राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने विभिन्न संकायों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले स्वर्ण पदक विजेता छात्र.छात्राओं एवं उनके प्राध्यापकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज यहाँ जितने भी विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की गई है। वे इस देश के शिक्षित नागरिक हैं। शिक्षा का व्यवहारिक उपयोग देश और समाज के हित के लिए करें। वर्तमान में भू.मण्लीयकरण का दौर है। बदलते समय के साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी परिवर्तन की आवश्यकता है। वर्तमान में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए हमें व्यवहारिक शिक्षा की ओर कदम बढ़ाना होंगे। शोध व अनुसंधान को व्यापकता प्रदान करनी होगी।
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि जीवाजी विश्वविद्यालय शिक्षा एवं कला के क्षेत्र में अपना विशेष स्थान रखता है। विश्वविद्यालय द्वारा ऊर्जा संरक्षण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए किए गए प्रयासों एवं शिक्षण के साथ.साथ सामाजिक कार्यों की उन्होंने सराहना की। विश्वविद्यालय के छात्र प्रदेश के साथ ही पूरे देश में अच्छा कार्य कर रहे हैं।  आनंदीबेन पटेल ने समारोह में अमर ज्योति संस्थान के दिव्यांग बच्चों को फल भेंट किए।
लक्ष्ये बनाएं और उसे पाने के लिए मेहनत करें . जीतू पटवारी
उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि ग्वालियर संगीत की नगरी है। शिक्षा के क्षेत्र में भी ग्वालियर अच्छा काम कर रहा है। यहाँ स्थित एलएनआईपीई शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में देश.विदेश में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है। महिलाओं की शिक्षा में भी ग्वालियर उल्लेखनीय कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा इस वर्ष ग्वालियर एवं चंबल संभाग के कॉलेजों के लिए 390 करोड़ की राशि दी जा रही है। सरकार उच्च शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाने के लिए प्रयास कर रही है।
समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पद्मश्री से सम्मानित एवं अमर ज्योति संस्थान की संस्थापक डॉण् उमा तुली ने अपने उदबोधन में कहा कि शिक्षा बहुत जरूरी है। शिक्षित नागरिक समाज के विकास में अपना विशेष योगदान दे सकता है। उन्होंने कहा जीवाजी विश्वविद्यालय कुछ कोर्सेस के साथ शुरू हुआ और आज इसकी श्रृंखला बहुत लम्बी हो गई है। विश्वविद्यालय में कई पाठ्यक्रमों में छात्र.छात्राओं को शिक्षित किया जा रहा है।
छात्र.छात्राओं को उपाधि एवं मैडल मिले
दीक्षांत समारोह में विभिन्न संकायों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र.छात्राओं को उपाधि एवं मैडल भी दिए गए, जिसमें श्वेता जैन, वर्षा भिलवार, आरती प्रजापति, श्रृष्टि उपाध्याय, अपूर्वा सिंह भदौरिया, मीनाक्षी कुमारी, सौम्या चौहान, मनमीत गौड़, कामिनी पाल, आकांक्षा श्रीवास्तव, मेघा त्रिपाठी, कृतिका शुक्ला, पूर्णिमा अग्रवाल, विपुल चौहान सहित अन्य विद्यार्थियों को राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने गोल्ड मैडल एवं उपाधि प्रदान की। इसके अलावा विभिन्न संकायों में पीएचडी करने वालों को भी उपाधि प्रदान की गई। जिसमें पंकज कुमार, मीनू गुप्ता, अभिषेक प्रताप सिंह, मधु गुप्ता, साधना सिंह, सीमा पाण्डेय, जय सिंह यादव, अजय सिंह सिकरवार सहित कई नाम शामिल हैं।
दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय की कुलपति श्रीमती संगीता शुक्ला, विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के प्रोफेसर, उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र.छात्राएं, उनके अभिभावक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online