साइकिल से देखी शहर की विरासत बेल्जियम के लूबिन शहर के स्टडी दल ने किया भ्रमण

ग्वालियर भारत में ग्वालियर शहर सांस्कृतिक विरासत के रुप में एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक शहर है और बेल्जियम के लूबिन व ग्वालियर में चल रहे अनेक विकास कार्य ऐसे हैं जिनपर दोनों शहर आपस में जानकारी साझा कर विकास को नई गति दे सकते हैं। उक्ताशय के विचार लूबिन सिटी के मेयर श्री मोहम्मद रेडियोनी ने ग्वालियर शहर के भ्रमण के अवसर पर व्यक्त किए। इस अवसर पर महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर, ग्वालियर स्मार्ट सिटी सीईओ श्री महीप तेजस्वी, प्रोजेक्ट अधिकारी श्री शिशिर श्रीवास्तव सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं दल के सदस्य उपस्थित रहे।
विकास कार्यों की स्टडी के लिए 12 सदस्यीय दल बेल्जियम के लूबिन सिटी से ग्वालियर आया तथा विभिन्न विकास कार्यों के अवलोकन किया। लूबिन सिटी के मेयर मोहम्मद रेडियोनी के नेतृत्व में आए दल के सदस्यों द्वारा महापौर विवेक शेजवलकर एवं ग्वालियर स्मार्ट सिटी सीईओ महीप तेजस्वी से शहर विकास को लेकर चर्चा की तथा प्रजेन्टेशन के माध्यम से स्मार्ट सिटी के विकास कार्यो को समझा।
देशभर के 12 शहरों एवं यूरोपियन देशों के 12 शहरों का चयन कर आपस में दो-दो शहरों के जोडे बनाए गए हैं इन शहरों में आपस में अनुबंध भी संपादित कराया गया है। ग्वालियर एवं बेल्जियम की लूबिन सिटी का जोडा बनाया गया है। जिसमें ग्वालियर के स्टडी दल ने लूबिन सिटी का भ्रमण किया था। इसी के तहत ग्वालियर के विकास कार्यों का अध्यन करने लूबिन सिटी का 12 सदस्यी एक दल लूबिन सिटी के मेयर मोहम्मद रेडियोनी के नेतृत्व में गुरुवार को ग्वालियर आया। ग्वालियर में स्मार्ट सिटी का प्रजेन्टेशन देखने के बाद दल के सदस्यों द्वारा सिटी सेंटर में स्थित स्मार्ट सिटी के पब्लिक बाईक शेयरिंग सेन्टर से साइकिल से शहर का भ्रमण किया जिसमें मोतीमहल की हेरिटेज बिल्डिंग एवं मोती महल में बन रहे कंट्रोल कमांड सेंन्टर का भी अवलोकन किया। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी सीईओ महीप तेजस्वी ने मोतीमहल के बारे में जानकारी दी तथा कंट्रोल कमांड सेंन्टर में किए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से बताया।
इसके पश्चाल दल के सदस्यों द्वारा जलविहार, वोट क्लब के साथ ही महाराज बाडे के ऐतिहासिक भवनों का अवलोकन किया। भ्रमण के दौरान दल के सदस्यों को ग्वालियर का हेरिटेज स्ट्रक्चर बहुत ही पसंद आया, साथ ही उन्होंने बताया कि इस पर अभी बहुत कार्य किया जा सकता हैं। ग्वालियर में दल के सदस्यों द्वारा हेरिटेज भवन, स्वर्णरेखा नदी एवं एफोर्डेबल हाउसिंग पर किए जा रहे कार्यों को काफी पसंद किया गया।  दल के सदस्य 15 फरवरी को भी शहर के विभिन्न ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण करेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online