विधानसभा क्षेत्र हारे भाजपा सांसदों के टिकट पर मंडराया संकट, आधे सांसदों के टिकट कट सकते है

भोपाल. मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में मिली पराजय का असर लोकसभा चुनाव के टिकट वितरण पर पड़ सकता है। भाजपा संसदीय सीटों के हिसाब से विधानसभा परिणाम का विश्लेषण कर रही है। जहां चार से अधिक विधानसभा सीटों में भाजपा के विधायक हारे हैं ऐसे सांसदों के टिकट पर संकट आ सकता है। इस दायरे में कई प्रभावशाली सांसद भी आ रहे है। पार्टी ने इस फार्मूले पर गंभीरता से विचार किया तो आधे सांसदों के टिकट कट सकते है।
फग्गन सिंह कुलस्ते और नरेंद्र सिंह जैसे कद्दावर नेताओं को टिकट मिल सकता है
विधानसभा चुनावों का विश्लेषण किया जाए तो 12 सांसद अपनी संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशियों को नहीं जिता पाए। पार्टी का मानना है कि ऐसे सांसदों ने जीतने का भरोसा खो दिया है इसलिए दोबारा इन्हें टिकट देने के बारे में गंभीरता से विचार किया जाए। भाजपा पार्टी से ऐसी जानकारी मिली है कि फग्गन सिंह कुलस्ते, और नरेंद्र सिंह तोमर जैसे कद्दावर लोगों को तो अपवाद स्वरूप टिकट मिल सकता है पर बाकी को इस संकट से निकल पाना बहुत मुश्किल है।
सांसदों की स्थिति विधानसभावार
संसदीय क्षेत्र भाजपा, कांग्रेस, अन्य
मुरैना (अनूप मिश्रा) . 1. 7 .00
भिंड (भागीरथ प्रसाद) . 2.5.1
ग्वालियर (नरेंद्र सिंह तोमर) .1.7.00
गुना (कांग्रेस) 3.5.00
सागर (लक्ष्मीनारायण यादव) .7.1.00
टीकमगढ़ (वीरेंद्र कुमार) .4.3.1 सपा
दमोह (प्रहलाद पटेल).3.4.1 बसपा
खजुराहो (नागेंद्र सिंह). 6.2.00
सतना (गणेश सिंह).5.2.00
रीवा (जर्नादन मिश्रा).8.00.00
सीधी (रीती पाठक) .7.1.00
शहडोल (ज्ञानसिंह).4.4.00
छिंदवाड़ा (कांग्रेस).00.7.00
होशंगाबाद (उदय प्रताप).5.3.00
बैतूल (ज्योति धुर्वे).4.4.00
बालाघाट (बोधसिंह भगत) .3.4.1 निर्दलीय
मंडल (फग्गनसिंह कुलस्ते) .2.6.00
जबलपुर (राकेश सिंह).4.4.00
भोपाल (आलोक संजर).5.3.00
विदिशा (सुषमा स्वराज).6.0.00
राजगढ़ (रोडमल नागर).2.5.1 निर्दलीय
देवास (मनोहर ऊंटवाल).4.4.00
इंदौर (सुमित्रा महाजन).4.4.00
उज्जैन (चिंतामणि मालवीय) .3.5.00
खंडवा (नंदकुमार सिंह चौहान).3.4.1 निर्दलीय
खरगोन (सुभाष पटेल).1.6.1 निर्दलीय
धार (सावित्री ठाकुर) .2.6.00
मंदसौर (सुधीर गुप्ता).7.1.00
रतलाम (कांग्रेस).3.5.00

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online