रूठे जुलानियां प्रतिनियुक्ति पर जायेंगे, मोहंती के मुख्य सचिव बनने का रास्ता साफ

भोपाल. माध्यमिक शिक्षा मण्डल केअध्यक्ष व 1982 बैच के सीनियर आईएसएस अधिकारी एसआर मोहंती का मप्र का नया मुख्य सचिव बनने का रास्ता लगभग साफ हो गया है सीएम कमलनाथ ने शनिवार को इसकी मंजूरी दे दी है। सोमवार को इसके आदेश जारी किये जा सकते है। मुख्य सचिव पद की दौड़ में चल रहे जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया अब केन्द्र सरकार में प्रतिनियुक्ति पर जायेंगे। सीएम ने मोहंती को मुख्य सचिव बनाने की फाइल के साथ जुलानिया के प्रतिनियुक्ति पर जाने केआवेदन कोभी स्वीकृति दे दी । अब केन्द्र सरकार का बुलावा आते ही रवाना हो जायेंगे। जुलानिया 1985 बैच के आईएएस अधिकारी है।
भारत सरकार में सचिव पद के लिये मई 2017 में इपैनल हुए 3 अफसरों में इकबाल सिंह बैस, दीपक खांडेकर के साथ जुलानियाभी रहें, लेकिन तब तत्कालीन सीएम शिवराज सिंह के शासन में उन्होंने प्रतिनियुक्ति पर जाने का विचार नहीं गया। तब उनसे वरिष्ठ व 1984 बैच के आईएएस अधिकारी बीपी सिंह को शिवराज सरकार ने मुख्य सचिव बनाया था। जुलानिया के रिटिायरमेंट में अभी पौने तीन साल शेष है।
ऐसा बताया जा रहा है कि यदि 2 वर्ष से कम सेवा बची हो तो प्रतिनियुक्ति पर जाना कठिन होता है इसलिये चार दिन पहले गये आवेदन को जुूलानिया ने स्वयं कमलनाथ से मिलकर स्वीकृत कराया। राधेश्याम जुलानिया 2002 से 2007 तक केद्रीय प्रतिनियुक्ति पररह चुके हैं इस बीच वह केन्द्रीय मंत्री रहे कमलनाथ के साथ काम कर चुके हैं लेकिन मप्र के मुख्य सचिव की नियुक्ति के मामले में कमलनाथ ने जुलानिया की तुलना में मोहंती पर विश्वास जताया हे।
अब इकबाल शेष
सचिव पद के लिये इंपेनल हुए अध्किारियों में अब सिर्फ इकबाल सिंह बैस ही मप्र में बचे हैं वर्तमान में मुख्य सचिवबीपी सिंह को 6 माह का एक्सटेंशन मिलनेके दौरान ही दीपक खांडेकर केन्द्र सरकार में चले गये थे। अब जुलानिया जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online