अटलजी ने ग्वालियर का नाम पूरे विश्व में आलोकित किया है -शिवराज सिंह चौहान

ग्वालियर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्व अटल बिहारी वाजपेयी को श्रृद्धांजलि देते हुए कहा कि अटलजी का व्यक्तित्व अद्भुत था। उनसे जो भी मिलता था, वह उनका हो जाता था। उनकी कमी हमें हमेशा खलेगी। शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को ग्वालियर में स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की श्रृद्धांजलि सभा में यह बात कही।
ग्वालियर के फूलबाग मैदान पर नगर निगम ग्वालियर द्वारा आयोजित श्रृद्धांजलि सभा में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश सरकार के मंत्रिगण श्रीमती माया सिंह, नारायण सिंह कुशवाह, राज्यसभा सांसद प्रभात झा, महापौर विवेक शेजवलकर, भिण्ड सांसद डॉ भागीरथ प्रसाद, सामान्य निर्धन वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष बालेन्दु शुक्ल, साडा अध्यक्ष राकेश सिंह जादौन समेत अटलजी की दत्तक सुपुत्री श्रीमती नमिता भट्टाचार्य व भानजे एवं सांसद अनूप मिश्रा, दामाद रंजन भट्टाचार्य व पौत्री निहारिका सहित अटल जी के अन्य परिजन के साथ ही वेद प्रकाश शर्मा, शैलेन्द्र बरुआ, देवेश शर्मा, वीरेंद्र जैन समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं अटल जी के भतीजे दीपक वाजपेयी सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने व्यक्तित्व और कृतित्व से ग्वालियर का नाम पूरे विश्व में आलोकित किया है। स्व अटलजी के जाने से न केवल ग्वालियर, प्रदेश, देश बल्कि करोड़ों लोगों के हृदय सूने हो गए हैं। स्व अटल जी ने सम्पूर्ण जीवन देश सेवा में समर्पित करते हुए देशवासियों के हृदय पर राज किया। उन्होंने पूरी दुनिया में हिंदी का मान बढ़ाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान पीढ़ी अपने भाग्य पर गर्व करेगी कि अटल जी को देखा था। अटलजी जैसा बनने का प्रयास करना उनके प्रति सच्ची श्रृद्धांजलि होगी।
केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे स्व अटलजी का सानिध्य प्राप्त हुआ। अटलजी का व्यक्तित्व अपने आप में एक विचार था। श्री तोमर ने कहा कि अटल जी के अपनत्व के कारण जो भी उनसे मिलता था, उनका हो जाता था। स्व. अटल जी के भाषण सुनकर ही अनेकों लोग उनके साथ और उनके विचार पर कार्य करने के लिये तैयार हुए। उन्होंने कहा कि स्व अटलजी का सम्पूर्ण जीवन देश के लिये समर्पित रहा।
प्रदेश की मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि स्व अटल जी ने राजनीति की सीमाओं से हटकर लोगों के दिलों में अपना स्थान बनाया। वे मध्यप्रदेश के लाल थे। इसका हमें गर्व है। वे व्यक्ति नहीं एक विचार थे।
उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कहा कि स्व अटल जी एक व्यक्ति न होकर एक हस्ती थे और उनकी हस्ती को कभी मिटाया नहीं जा सकता। हमें गर्व है कि स्व अटल जी ग्वालियर के सपूत थे। उनके कारण ही विश्व भर में ग्वालियर की पहचान स्थापित हो सकी। स्व अटल जी ने देश पर नहीं लोगों के दिलों पर राज किया। स्व अटलजी द्वारा बताए हुए मार्ग पर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रृद्धांजलि होगी।
नवकरणीय ऊर्जा मंत्री नारायण सिंह कुशवाह ने कहा कि स्वण् अटलजी के भाषण सुन.सुनकर ही मेरे जैसे अनेकों युवा राष्ट्र प्रेम की मुख्यधारा से जुड़े। उनमें सदैव अपनत्व का भाव रहता था। स्वण् अटलजी की कमी हम सबको हमेशा रहेगी। लेकिन उनके विचार सदैव हमारे साथ रहेंगे।
श्रृद्धांजलि सभा में मुरैना के सांसद अनूप मिश्रा ने कहा कि स्व अटल बिहारी वाजपेयी मेरे परिवार के मुखिया थे। उन्होंने मुझे राजनीति का क, ख, ग सिखाया। स्व अटल जी ने जीवन भर राष्ट्रहित को ही अपना जीवन माना। स्व, अटल जी ने पूरे विश्व में लोकतंत्र में सबको साथ लेकर चलने का उदाहरण प्रस्तुत किया।
राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने कहा कि मैं खुशनसीब हूँ कि मुझे अटलजी के साथ कार्य करने का सौभाग्य मिला। स्वण् अटल जी महान व्यक्तित्व के धनी थे। उनकी सहृदयता के सभी कायल थे। स्व. अटलजी ने देश को एक नई ऊँचाई तक पहुँचाया। उनके द्वारा किए गए कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकता।
महापौर विवेक शेजवलकर ने कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी सम्पूर्ण जीवन देश सेवा में लगे रहे। उनके द्वारा किए गए कार्यों के कारण उनका हमेशा लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान रहा। उनके द्वारा बताए गए मार्ग पर हम सब कार्य करेंए यही उनके प्रति सच्ची श्रृद्धांजलि होगी।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि स्वर्गीय अटल जी ने राजनीति की सीमा से हटकर लोगों के दिलों में स्थान बनाया। वे मध्यप्रदेश की माटी के लाल थे, इसका हमें गर्व है। वे व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचार थे। भाजपा के महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि स्वर्गीय अटल जी विराट व्यक्तित्व थे। वे हर व्यक्ति को अपने लगते थे। वे आनंद की प्रतिमूर्ति थे। विधानसभा उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह ने कहा कि स्वर्गीय अटल जी प्रेम और सद्भाव का दल से ऊपर उठकर संदेश देते थे। वे महान व्यक्ति थे। जो उनसे मिलताए उसे अपना बना लेते थे।
कांग्रेस के जिला अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा, पूर्व मंत्री भगवान सिंह यादव, कृष्ण गोपाल ने भी स्व अटलजी के व्यक्तित्व पर अपने विचार व्यक्त किए। सभा के अंत में सभी अतिथियों एवं गणमान्य नागरिकों सहित आमजनों ने भी स्व. अटलजी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रृद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम का संचालन श्री वेदप्रकाश शर्मा ने किया। इस अवसर पर सभी धर्मगुरूओं ने श्रृद्धांजलि सभा में उपस्थित रहकर स्वण् अटल जी को श्रृद्धा.सुमन अर्पित किए।
मुखर्जी भवन पर आम जनों के दर्शनार्थ रहेगा स्व अटलजी का अस्थि कलश
स्व. अटल बिहारी वाजपेयी का अस्थि कलश 23 अगस्त को दिनभर मुखर्जी भवन पर आमजनों के दर्शनार्थ रखा जायेगा। शहर के नागरिक उपस्थित होकर श्रृद्धा.सुमन अर्पित कर सकते हैं। 24 अगस्त को अस्थि कलश ग्वालियर से मुरैना के लिये रवाना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online