भीमा यादव को साथ और र्स्कोपियों को छोड़कर भाग गये बदमाश, र्स्कोपियों और सिपाही प्रमोद यादव पुलिस के कब्जे में

भीमा गैंग से छूटा सिपाही एसपी के पास पहुंचा
ग्वालियर. लक्ष्मणगढ़ के पास पुलिस पार्टी के गाड़ी को अड़ाकर कुख्यात बदमाश भीमा यादव के साथ फरार होने में मदद करने वाली गैंग के हाथ अगवा हुआ सिपाही प्रमोद यादव आज एसपी ग्वालियर के पास पहुंच गया। उसकी भूमिका पुलिस को संदिग्ध लग रही है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है वहीं इंसास राइफल लूटने वाले भीम व उसके साथियों का अब तक कोई सुराग पुलिस को नहीं लगा है।
भोपाल पुलिस ने उसे एसपी ग्वालियर से मिलने कहा
सुबह अगवा हुआ सिपाही प्रमोद यादव ग्वालियर पुलिस के पास पहुंच गया। पुलिस को उसने बताया कि वह छूटने के बाद सीधे रेलवे स्टेशन पहुंचा और भोपाल में आरआई से फोन पर बात की। भोपाल पुलिस ने उसे एसपी ग्वालियर नवनीत भसीन से मिलने कहा।
अधिकारी विस्तार से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ले रहे
पुलिस को आशंका है कि प्रमोद भी इस गेमप्लान का राजदार हो सकता है फिल्हाल उससे अधिकारी विस्तार से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ले रहे है।
प्रमोद यादव की भूमिका की भी जांच की जा रही-एसपी
कल आरोपी के साथ गायब हुआ सिपाही प्रमोद वापस आ गया है उससे सिलसिले में पूछताछ की जा रही है जिससे आरोपियों के बारे में सही सही जानकारी मिल सके। अभी उसकी भूमिका की भी जांच की जा रही है।
बदमाश अपने साथ सिपाही प्रमोद यादव को भी अपहरण कर ले गए थे
लक्ष्मणगढ़ के पास हत्या के आरोपी भीमा उर्फ जितेन्द्र यादव को ले जा रही भोपाल पुलिस को स्कॉर्पियों सवार बदमाश ने मिर्ची झोंककर छुड़ा लिया था इसके बाद बदमाश के साथियों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर के दो इंसास राइफलें भी लूट ली। बदमाश अपने साथ सिपाही प्रमोद यादव को भी अपहरण कर ले गए। पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए मुरैना, भिंड व आसपास के संभावित इलाकों में नाकाबंदी की। पुलिस को खबर मिली है कि भीमा को फरार कराने में उसके भोपाल और भिंड के दोस्तों का पूरा हाथ है।

भीमा यादव के साथियों ने छोडी र्स्कोपियों
लक्ष्मणगढ़ पर भीमा के साथियों ने पुलिस कर्मियों पर मिर्ची फेंकने के बाद भीमा यादव और पुलिस के सिपाही प्रमोद यादव को र्स्कोपियों में अपने साथ बैठाकर ले गये, चूंकि ग्वालियर पुलिस घटना के तत्काल चारों ओर नाकेबन्दी कर दी गयी इसलिये र्स्कोपियों नम्बर एमपी 30 सी 3999 को लक्ष्मणगढ़ से आगे छोड़ कर भाग गये, महाराजपुरा थाना पुलिस गाड़ी को बरामद कर थाने ले आयी है। भीमा यादव के साथियों के चंगुल से मुक्त होने के बाद पुलिस सिपाही से घटना के संबंध सिलसिलेवार जानकारी ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online