जयारोग्य चिकित्सालय को दलालों से मुक्ति मिलेगी- डॉ अशोक मिश्रा

ग्वालियर. अंचल के सबसे बड़े जयारोग्य अस्पताल से मरीजों को प्रायवेट अस्पताल में शिफ्ट करने वाले दलालों की अब खैर नही। ओपीडी के वक्त माधव डिसपेंसरी में घूमने वाले ऐसे मरीजों के दलाल अब दाखिले हवालात हो सकते हैं। गजराराजा मेडिकल कॉलेज के नए डीन डॉ. भरन जैन ने अपना पदभार ग्रहण करते हुए इस बात के साफ संकेत दे दिए है जबकि आज मेडिकल कॉलेज से संबद्ध जयारोग्य अस्पताल के नए संयुक्त संचालक एवं अधीक्षक डॉ. अशोक मिश्रा ने पदभार ग्रहण किया।
मरीजों को भ्रमित करके प्रायवेट अस्पतालों में शिफ्ट करने वालो की धरपकड़
डॉ. मिश्रा ने पदभार संभालने के बाद साफतौर कहा कि मरीजों को भ्रमित करके यहां से प्रायवेट अस्पतालों में शिफ्ट करने वाले लोगों धरपकड़ की जाएगी। डीन व अधीक्षक पद के लिए नई नियुक्ति प्रक्रिया के तहत इंटरव्यू हुए थे इसमे डीन पद के लिए तीन उम्मीदवार थे इेटरव्यू के बाद पैथेलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. भरत जैन की नियुक्ति डीन पद के लिए की गई वहीं पीएसएस विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अशोक को जयारोग्य अस्पताल के संयुक्त संचालक एवं अधीक्षक पद पर नियुक्त किया गया है।
व्यवस्थाओं में होगा बदलाव
डीन व अधीक्षक की नई नियुक्ति के साथ ही अब कॉलेज और जेएएच की व्यवस्थाओं में जल्द ही बदलाव नजर आ सकता है खासतौर पर नए सिरे से नए लोगों को जिम्मेदारी दी जा सकती है। अस्पताल के जिम्मेदार अधिकारियों का रिकॉर्ड देखते हुए मौजूदा व्यवस्थाओं को रखा जाए यह नहीं यह भी तय किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online