पार्टी से बगावत भारी पड़ रही समीक्षा को

ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रही समीक्षा गुप्ता को पार्टी से बगावत करना भारी पड़ता नजर आ रहा है क्योंकि न तो उन्हें काम करने के लिए कार्यकर्ता मिल रहे हैं और न ही क्षेत्रवासी उनकी इस मौका परस्ती को पसंद कर रहे है। भाजपा से महापौर रह चुकी समीक्षा ने भाजपा सहित कांग्रेस से भी टिकट पाने का प्रयास किया था लेकिन दोनों ही दलों से मौका नहीं मिलने पर वह निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में उतर गई है।
पार्टी छोड़ते ही कार्यकर्ता भी किनारा कर गए
समीक्षा को उम्मीद थी कि कांग्रेस व भाजपा के असंतुष्ट कार्यकर्ताओं का उनको समर्थन मिल जाएगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ और उनके पार्टी छोड़ते ही कार्यकर्ता भी उनसे किनारा कर गए जिससे उन्हें चुनाव में काम करने तक के लिए भाड़े के लोगों को लगाना पड़ रहा है वहीं इन अनचाहे चेहरों से क्षेत्रवासी वाकिफ नहीं हैं जिससे इन्हें लेकर समीक्षा जब क्षेत्र में जनसंपर्क करने पहुंच रही है तो उन्हें मतदाताओं द्वारा उन्हें अधिक पसंद नहीं किया जा रहा है। वहीं सूत्रों का कहना है कि मतदाताओं का यह फीडबैक समीक्षा को भी मालूम पड़ गया है जिसके चलते उन्होंने वोटरों को बरगलाने के लिए अपनी वाटिका बार के दरवाजे तक खोल दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online