कैबिनेट की बैठक में दो फैसले एक वर्ष के लिये टाल दिय सीएम ने

भोपाल. चुनावी वर्ष में सरकार ऐसा कोई फैसला नहीं लेना चाहती है कि जिससे वोट का नुकसान हो, इसी को ध्यान में रखते हुए 3 मंत्रियों के टोकने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट की बैठक में दो फैसले एक वर्ष के लिये टाल दिये।
पहला प्रस्ताव
मण्डीदीप, पीथमपुर और मालनपुर जिला उद्योग केन्द्र को बन्द करने का था, जब इस पर चर्चा शुरू की गयी तो राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता और नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने कहा चुनाव को देखते हुए इसे इस वर्ष नहीं बन्द करना चाहिये। सीएम शिवराज सिंह चौहान इस पर राजी हो गये।
दूसरा प्रस्ताव
प्री व पोस्ट मैट्रिक छात्रावासों को स्कूल व कॉलेज के लिये अलग अलग करने का था, जिसे खाद्य मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे के टोकने के बाद भी रोक दिया गया।
जब मान गये शिवराज
इन मंत्रियों ने कहा कि अभी यह निर्णय होंगे तो चुनाव में नुकसान हो सकता है, अकारण मुद्दा भी बनेगा तो सीएम ने कहा कि चुनाव के बाद में इन मामलों को देखते हैं, कैबिनेट की बैठक के बाद अनौपचारिक चर्चा में अटल जी को श्रद्धांजलि का प्रस्ताव रखा गया और साथ ही तय हुआ कि आगामी 31 अगस्त को तमाम असंगठित मजदूरों का कार्यक्रम प्रस्तावित किया गया है। सीएम लालपरेड ग्राण्उड से 378 नगरीय निकायों में होने वाले इस कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।
कैबिनेट में लिये फैसले
अजा वर्ग के प्रतिभावान विद्यार्थियों के लिए दो वर्षीय कोचिंग योजना।
वनरक्षक के एकीकृत वेतनमान का अनुमोदन।
बिजली कंपनियों को 10 हजार 428 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी जाएगी।
पंडित कुंजीलाल दुबे राष्ट्रीय संसदीय विद्यापीठ भोपाल में अधीक्षक तथा सहायक प्रोग्रामर का एक.एक पद मंजूर।
चाणक्यपुरी ;नई दिल्लीद्ध में नव.आवंटित भूखंड पर नए मध्यप्रदेश भवन के निर्माण के लिए 149 करोड़ 87 लाख रुपए की स्वीकृति।
उमरिया में स्टेडियम के लिए एक करोड़ 55 रुपए मंजूर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online