प्रेक्षकों ने चुनावी तैयारियां को परखा

ग्वालियर. भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिये पृथक नियुक्त किए गए सामान्य प्रेक्षकगणों ने जिले में की गई चुनाव की तैयारियों की वस्तुस्थिति जानी। प्रेक्षकगणों की मौजूदगी में हुई विभिन्न निर्वाचन प्रकोष्ठों से जुड़े अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने विस्तारपूर्वक चुनावी तैयारियों की जानकारी दी।
क्या है पूरा मामला
यहां कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 14 ग्वालियर ग्रामीण के प्रेक्षक राजीव कुमार जाधव, 15 ग्वालियर के प्रेक्षक अनिल कुमार, 16 ग्वालियर पूर्व के प्रेक्षक दिनेशन एच, 17 ग्वालियर दक्षिण के प्रेक्षक जयकुमार, 18 भितरवार के प्रेक्षक उदय प्रताप एवं विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 19 डबरा (अजा) के प्रेक्षक नीरज कुमार मौजूद थे साथ ही रिटर्निंग अधिकारी दिनेश श्रीवास्तव, शिवम वर्मा, श्रीमती जयति सिंह, नरोत्तम भार्गव, सीबी प्रसाद और अशोक चौहान सहित विभिन्न चुनावी प्रकोष्ठों के नोडल अधिकारी मौजूद थे।
मतदान सामग्री वितरण 27 नवम्बर एमएलबी कॉलेज
बैठक में श्री वर्मा ने प्रेक्षकगणों को व्यय निगरानी दल में शामिल उड़नदस्ता, स्टेटिक सर्विलिएन्स टीम, वीडियो सर्विलिएन्स टीम व विडियो व्यूविंग टीम तथा व्यय लेखा दलों की गतिविधियों की जानकारी भी बैठक में दी। उन्होंने बताया कि चुनावी व्यय पर निगरानी रखने के लिये विधानसभा क्षेत्रवार अलग अलग दल तैनात किए गए है। आयोग के दिशा के तहत प्रत्याशियों का चुनावी खर्चे पर निगरानी रख रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान दलों को मतदान केन्द्र तक पहुंचाने के लिये रूट चार्ट का निर्धारण कर लिया गया है। लगभग 403 वाहन मतदान दलों को मतदान केन्द्रों तक पहुंचायेंगे। मतदान सामग्री वितरण 27 नवम्बर को एमएलबी कॉलेज से होगा यहीं पर मतदान के बाद चुनाव सामग्री जमा होगी।
मतदान पर्ची व गाईड समय सीमा के भीतर हर हाल में वितरित
मतगणना का कार्य भी एमएलबी कॉलेज में ही होगा। कलेक्टर ने सभी रिटर्निग अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्वाचन आयोग के दिशा के अनुसार सभी मतदाताओं को मतदान पर्ची व गाईड समय सीमा के भीतर हर हाल में वितरित कराएं। सभी बीएलओ को साफ तौर पर ताकीद कर दें कि इस काम में किसी तरह की ढि़लाई बर्दाश्त नहीं होगी।
24 घंटे काम कर रही मीडिया सेल
जिले के सभी 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में चुनावी प्रचार से संबंधित खर्चे की निगरानी रखने के लिये व्यय निर्वाचन प्रकोष्ठ गठित किया गया है इसी कड़ी में पेड़ न्येज, चुनावी विज्ञापन और इलेक्ट्रोनिक मीडिया से प्रसारित होने वाले चुनावी विज्ञापनों पर नजर रखने के लिये मीडिया अनुवीक्षण और प्रमाणन समिति एमसीएमसी की देख रेख में मोतीमहल स्थित संभागीय कार्यालय में 24 घंटे मीडिया सैल भी काम कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online