जम्मूकश्मीर में रोहिंग्या ने ली शरण, बायोमेट्रिक्स से होगी पहचान

जम्मू कश्मीर. जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी यहां रोहिंग्या के बसे होने की पुष्टि की है। सत्यपाल मलिक ने कहा कि रोहिंग्या की पहचान के लिए बायोमेट्रिक्स की मदद ली जा रही है उन्होंने बताया कि दो महीने के भीतर जम्मू कश्मीर में आकर बसे रोहिंग्या की पहचान कर ली जाएगी। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि किश्तवाड़ में बीजेपी नेता की हत्या करने वाले आतंकवादियों की पहचान कर ली गई है। जम्मू कश्मीर में शांतिपूर्ण तरीके से पंचायत चुनाव हो रहे हैं इस बात से आतंकी परेशान है वहीं सुरक्षाकर्मियों का मनोबल बढ़ा है।
मालूम हो कि केंद्रीय खुफिया एजेंसी आईबी की एक रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू कश्मीर के कारगिल में रोहिंग्या के होने की जानकारी मिली है। रिपोर्ट के मुताबिक करीब 53 रोहिंग्या के होने की जानकारी मिली है जो कारगिल में रह रहे हैं। देखा जाए तो लाइन ऑफ कंट्रोल के नजदीक पड़ने वाला कारगिल सुरक्षा के लिहाज से काफी संवेनदशील है। भारतीय सेना पाकिस्तान की तरफ से होने वाले किसी भी जवाबी कार्यवाही के लिए हर वक्त तैयार रहती है ऐसे में जब से एन इलाकों में रोहिंग्या के होने की खबर मिली है सुरक्षा एजेंसियां हरकत में आ गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online