175 पुलिसकर्मी बर्खास्त इनमें 77 महिलायें भी शामिल

पटना. पुलिस लाइन में महिला ट्रेनी की मौत पर उपद्रव करने के मामले में रविवार को 175 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया। इनमें 77 महिलाओं सहित 167 रंगरूट आरक्षक शामिल हैं। पुलिस विभाग के 23 कर्मचारियों को निलंबित भी किया गया है। ऐसा बताया जा रहा है कि राज्य में इस महकमे में यह अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही है।
रंगरूटों के अलावा जिन 8 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया वह जांच में उपद्रव भड़काने के दोषी पाए गए। जिन 23 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है उनमें से 3 ट्रेनी सविता को बीमार होने के बावजूद छुट्टी नहीं देने के दोषी पाए गए। बाकी 20 या तो ड्यूटी पर गैरहाजिर थे या उन्होंने उपद्रवियों को रोकने की कोशिश नहीं की। आईजी नैयर हसनैन खान, एसएसपी मनु महाराज और अन्य पुलिस अधिकारियों ने इस मामले में दर्ज 4 केसों की समीक्षा के बाद बर्खास्तगी का आदेश दिया।
दोषियों की गिरफ्तारी भी हो सकती है
बर्खास्त पुलिसकर्मियों पर हत्या का प्रयास, दंगा करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंुचाने, अधिकारियों पर हमला करने जैसे संगीन आरोप हैं। इस मामले में उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है। वहीं उनमें से कुछ ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि वे इस कार्यवाही के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी में।
93 मुंशी और अधिकारियों का हो कसता है तबादला
जांच में ऐसा पता चला कि घटना के पीछे विभाग के कुछ ऐसे कर्मचारियों और अधिकारियों के प्रति नाराजगी भी है जो वहां 10 से 12 साल से जमे हुए हैं। एसएसपी ने ऐसे 93 पुलिसकर्मियों की सूची आईजी को सौंप दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online