हनीट्रैप-डीआरडीओ का इंजीनियर अरेस्ट, अमेरिका-पाक को ब्रम्होस की जानकारी देने का लगा आरोप

नागपुर. यूपी एटीएस और मिलिट्री इंटेलीजेंस ने जासूसी के आरोप में सोमवार को डीआरडीओ के सीनियर इंजीनियर को अरेस्ट कर लिया है। इस पर आरोप है कि उसने ब्रम्होस मिसाइल यूनिट से अहम तकनीकी जानकाकरियां चोरी कर अमेरिका और पाक में हैण्डलर्स तक पहुंचा रहा था। ऐसा बताया जा रहा है कि इंजीनियर अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए की एक महिला एजेंट के जाल में फंसा था। आईजी (एटीएस) असीम अरूण ने बताया कि आरोपी के कम्प्यूटर में कई संवेदनशील जानकारियां में सेव थी, हमें उसके एक पाक से फेसबुक पर चैटिंग के सुराग मिले हैं।
आरोपी 40 लोगों की टीम का इंचार्ज था
जानकारी के अनुसार, आरोपी निशांत अग्रवाल डीआरडीओ के ब्रम्होस एयरोस्पेस में 4 वर्ष से सीनियर सिस्टम इंजीनियर के पद पर तैनात था। वह हाइड्रोलिक न्यूमेटिक्स और वारहेड इंटीग्रेशन (प्रोडक्शन डिपार्टमेंट) के 40 सदस्यों की टीम का इंचार्ज था। निशांत ब्रम्होस की सीएसआर और आरएनडी ग्रुप का सदस्य भी है, फिलहाल, वह ब्रम्होस के नागपुर और पिलानी साइट्स के प्रोजेक्टर का कामकाज देख रहा था। पिछले वर्ष यूनिट से उसे युवा वैज्ञानिक का पुरूस्कार भी मिला था।
सीक्रेट्स इनफार्मेशन आरोपी सोशल मीडिया से भेजता था
ऐसा बताया जा रहा है कि आरोपी दिल्ली में मौजूद सीआईए (अमेरिकी खुफिया एजेंसी) की एजेंट और पाक के हैण्डलर के संपर्क में था। वह मिसाइल तकनीक की जानकारियां भेजने के लिये सोशल मीडिया के इन्क्रिप्टेड, कोडवर्ड और गेम के चैटजोन का उपयोग कर रहा था। सेना के वरिष्ठ अधिकारी भी इस मामले पर नजर बनाये हुए थे। पूछताछ में मालूम पड़ा है कि आरोपी ने मिसाइल से जुड़ी कौन-कौन सी इन्फोर्मेशन लीक की है। इससे पूर्व रविवार की रात को कानपुर से एक महिला को पकड़ा गया था।
उल्लेखनीय है कि सोमवार की सुबह यूपी एसटीएस की टीम निशांत के नागपुर स्थित बंगले पर छानबीन के लिये पहुंची और मामले की जांच संबंधी सामग्रियां जब्त की है, वहीं रविवार की रात को भी इसी टीम ने कानपुर से एक महिला को अरेस्ट किया था हालांकि उसके पास से कुछ नहीं मिला था।
गौरतलब है कि ब्रम्होस एक मीडियम रेंज की सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल है जिसे भारत ने रूस के साथ मिलकर तैयार की है, इस मिसाइल से जुड़ी खासियत यह है कि इसे जमीन के अलावा पनडुब्बी, युद्धपोत और लड़ाकू विमान से लांच किया जा सकता है। भारत और रूस के संयुक्त उपक्रम ब्रम्होस एयरोस्पेस द्वारा निर्मित यह मिसाइल दुनिया की सबसे तेज क्रूज मिसाइल मानी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online