भारत और रूस के बीच एस 400 मिसाइल सिस्टम के लिए 40 हजार करोड़ रु. का समझौता के साथ हुए 8 करार

नई दिल्ली. रूस के राष्ट्रपति वलादिमीर पुतिन और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच शुक्रवार को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता हुई। अमेकरिका की प्रतिबंध लगाने की धमकी के बावजूद भारत और रूस के बीच 40 हजार करोड़ के एस 400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम का समझौता हुआ है। पीएम नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने शुक्रवार को समझौते पर हस्ताक्षर किए इसके तहत भारत को रूस से सतह से हवा में मार करने वाली आधुनिक ट्रायम्फ मिसाइल स्क्वॉड्रन मिलेगी। दोनों देशों के बीच अंतरिक्ष में सहयोग को लेकर भी करार हुआ इसके तहत भारत का एक मॉनिटरिंग स्टेशन रूस के साइबेरिया स्थित नोवोसिबिर्स्क में स्थापित किया जाएगा।
गगनयान अभियान मे हमारा सहयोग करेगा रूस
भारत और रूस के बीच सहयोग का विस्तार अतीत के दायरों के पार ले जाएगा। भारत की विकास यात्रा में रूस हमेशा साथ रहा है। हमारा अंतरिक्ष में अगला लक्ष्य गगनयान में भारतीय अंतरिक्ष यात्री को भेजना है। रूस ने पूरे सहयोग का आश्वासन दिया है। भारत और रूस के प्रतिभा संपन्न बच्चे अपने इनोवेटिव आइडिया बताएंगे। हमने ऐसे प्रयासों पर विचार किया है जिससे लोगों के बीच संबंध मजबूत हों। मैं विश्वास से कह सकता हूं की भारत और रूस की दोस्ती अनूठी है। इस रिश्ते के लिए पुतिन की प्रतिबंद्धता से यह दोस्ती और मजबूत होगी। हम नई बुलंदियों पर पहुंचेंगे।
भारत और रूस में 8 करार
40 हजार करोड़ में एस 400 मिसाइल सिस्टम डील
रेलवे में सहयोग
एमएसएमई क्षेत्र में सहयोग
फर्टिलाइजर सेक्टर में करार
गगनयान अभियान में सहयोग
अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में सहयोग
ऊर्जा के क्षेत्र में करार
परमाणु क्षेत्र में सहयोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online