मुंगेर में जमीन में दबे मिले जबलपुर से चोरी किये गये एके47 के स्पेयर पार्टस

जबलपुर/मुंगरे(बिहार).  जबलपुर आर्डिनेंस फैक्ट्री से एके 47 ही चोरी नहीं हुई थी बल्कि इसके पार्टस भी भारी मात्रा में चोरी हुए थे। बिहार पुलिस की जांच में इसका खुलासा हुआ है। मुंगेर से एके 47 बरामदगी मामले में जैसे जैसे जांच आगे बढ़ रही है वैसे वैसे नए खुलासे हो रहे हैं। पुलिस द्वारा बरदह गांव में छापेमारी कर एके 47 के कई ओरिजिनल स्पेयर पार्ट्स भी बरामद किए गए हैं। अब पुलिस यह भी मान रही है कि एके 47 के साथ साथ उसके स्पेयर पार्ट्स भी डिपो से ही निकाले जाते थे। जिससे मुंगेर में ही एके 47 राइफल तैयार की जाती थी।
बिहार के हथियार तस्कर इमरान के पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद इस चोरी का खुलासा हुआ था। इमरान के पास से मुंगेर में 21 एके 47 बरामद की गई थी। इसके बाद जबलपुर आर्डिनेंस फैक्ट्री के रिटायर्ड कर्मचारी शमशेर को परिवार समेत अरेस्ट किया था। बिहार पुलिस को इरफान ने बताया था कि उसे यह हथियार शमशेर देता था।
जेसीबी से ढूढे जा रहे हथियार
मुंगेर एसपी बाबूराम ने बताया कि बरदह गांव कभी जमीन और कुंए से एके 47 समेत उसके पार्ट्स मिल रहे हैं। जेसीबी से खुदाई की जा रही है। एके 47 की बरामदगी को लेकर मिर्जापुर बरदह गांव में पुलिस टीम ने शनिवार की देर रात भी छापेमारी कर एके 47 के कई स्पेयर पार्ट्स को बरामद किए हैं। इस बार भी पुलिस ने एक अरेस्ट आरोपी अजमेरी बेगम के घर स्थित गोदाम की जेसीबी से खुदाई कराकर बोरियों में रखे एके 47 के कल पुर्जे बरामद हुए हैं। इतने पार्ट्स बरामद किये गये इनसे एके 47 राइफल तैयार हो जाएगी।
शमशेर ही देता था पार्ट्स
एसपी बाबूराम ने बताया कि शनिवार जब्त किए गए एके 47 बरामद स्पेयर पार्ट्स भी जबलपुर की सेंट्रल आर्डिनेंस डिपो से ही निकाले गए हैं। इससे स्पष्ट होता है कि गिरफ्तार हथियार तस्कर शमशेर और इमरान के द्वारा सिर्फ एके 47 की ही सप्लाई नहीं करते थे बल्कि खराब होने पर स्पेयर पार्ट्स भी उपलब्ध कराते थे। मुंगेर पुलिस ने पिछले एक महीने में अब तक 20 एके 47 बरामद किए गए हैं।
ऐसे पहुंचे अंजाम तक
एसपी ने बताया कि शमशेर आलम और मो. इमरान हथियार और स्पेयर पार्ट्स को छुपाने के लिए रिजवान उर्फ भुट्टो को देते थे। पूछताछ में रिजवान उर्फ भुट्टों ने बताया कि उसने अपनी सास अजमेरी बेगम को एके 47 के स्पेयर पार्ट्स छुपाने के लिए दिया है। अजमेरी बेगम ने बताया था कि एके 47 के पार्ट्स गोदाम के पीछे जमीन में दबा दिये थे जिसके बाद पुलिस ने जेसीबी से गोदाम की खुदाई कर लगभग जमीन 3 फीट के अंदर से 101 पीस स्क्रू पिस्टन, 29 पीस लीव बैक माईट, 1 पीस हेम्मर, 21 पीस कम्पेयर सेंटर, एक पीस गॉड हैंड लीवर, 3 पीस सेफ्टी सिलेक्टर, 2 पीस सेफ्टी लीवर, लिवर लॉकिंग स्क्रू, लिवर सेफ्टी एक्सलेटर, कंपेयर सेक्टर बरामद किया है।
शमशेर और इमरान ही करते थे एके 47 की सर्विसिंग
मो. इमरान और शमशेर आलम द्वारा बेचे गए एके 47 का कोई पार्ट्स खराब हो जाता था तो यही दोनों उनके सुरक्षित स्थानों पर जाकर एके 47 की सर्विसिंग करते थे। इस दौरान कोई पार्ट्स खराब हो जाता था तो उसके पार्ट्स को भी बदलते थे।
भुट्टो की निशानदेही पर अजमेरी बेगम के गोदाम से एके 47 के गई पार्ट्स बरामद की किए गए हैं। एके 47 के स्पेयर पार्ट्स को देखने से लग रहा है कि यह भी मध्य प्रदेश की जबलपुर सेंट्रल आर्डिनेंस डिपो से ही निकाले गए हैै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online